डोईवाला सरकारी अस्पताल का पीपीपी मोड खत्म करने को लेकर उक्रांद ने निकाला कैंडल मार्च 

0
161

डोईवाला। डोईवाला में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को पीपीपी मोड में दिए जाने के विरोध में आज तीसरे दिन उत्तराखंड क्रांति दल के कार्यकर्ताओं ने दिन भर धरना प्रदर्शन के बाद शाम को कैंडल मार्च निकाला।

उत्तराखंड क्रांति दल के नेता शिव प्रसाद सेमवाल ने कहा कि यह कैंडल मार्च भाजपा तथा कांग्रेस को  सन्मार्ग  दिखाने के लिए एक सांकेतिक मार्च है।

 उन्होंने सीएचसी डोईवाला की दुर्दशा के लिए भाजपा तथा कांग्रेस दोनों को समान रूप से दोषी बताया।

 शिव प्रसाद सेमवाल ने कहा कि कांग्रेस ने डोईवाला अस्पताल के उच्चीकरण करने के लिए स्वीकृत धनराशि को निरस्त कर दिया तथा भाजपा सरकार ने इस अस्पताल को “प्रो बोनो एग्रीमेंट” के तहत हिमालयन अस्पताल को सौंप दिया।

कहा कि अस्पताल के उच्चीकरण को लेकर चल रहे आंदोलन को पूर्व राज्यमंत्री धीरेंद्र चौहान, पुरषोत्तम डोभाल, रणजीत गुसांई,  फुरकान अहमद कुरेशी सहित कई राजनीतिक तथा सामाजिक क्षेत्र से जुड़े लोगों ने भी अपना समर्थन दिया।

कैंडल मार्च में उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय सचिव केंद्र पाल सिंह तोपवाल, जिला अध्यक्ष संजय डोभाल, नगर अध्यक्ष राकेश तोपवाल, नगर महिला मोर्चा अध्यक्ष बीना नेगी, निर्मला भट्ट, शशि बाला,लक्ष्मी देवी, अनिल औली, जिला कार्यकारी अध्यक्ष प्रमोद डोभाल, रमेश डोभाल, हर्ष रावत, योगी पंवार, टीकाराम डोभाल, जय थपलियाल, शुभम, नगर उपाध्यक्ष पेशकार सिंह,

बाबूलाल गौतम, दीप पांडे, वार्ड अध्यक्ष रंजीत रावत, मनोज साहनी, राजू पेंटर, शैलेंद्र नेगी, हुक्म सिंह खत्री, सुरेंद्र चौहान, बाबा रघुनाथ, आदि दर्जनों लोग शामिल थे।