स्थानीय उत्पादों को बढावे से मजबूत होगी आर्थिकी: करन वोहरा

0
231

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने को दिया प्रशिक्षण

डोईवाला। पंडित दीनदयाल उपाध्याय विज्ञान ग्राम संकुल परियोजना के अंतर्गत उत्तराखंड राज्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग उत्तराखंड सरकार के सहयोग से सरस्वती जनकल्याण एवं स्वरोजगार संस्थान देहरादून द्वारा डोईवाला ब्लॉक के ग्राम नागल ज्वालापुर में क्षेत्र की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने को प्रशिक्षण दिया गया।

उद्यमिता विकास कार्यक्रम और प्रशिक्षण का आयोजन करने का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ना है। स्थानीय महिला शिल्पियों के अतिरिक्त बजीरा रुद्रप्रयाग, भिगोने टिहरी गढ़वाल, कौसानी बागेश्वर के 25 शिल्पियों ने कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

मास्टर ट्रैनर मदन राज द्वारा सभी प्रतिभागियों को प्रशिक्षण दिया गया। कार्यक्रम में शिरकत करते हुए वन पंचायत सलाहकार बोर्ड के उपाध्यक्ष राज्य मंत्री करण वोहरा ने कि भारत सरकार के साथ ही राज्य की सरकार भी वोकल फ़ोर लोकल के लिए लोगो को जागरूक कर उन्हें स्वरोजगार से जोड़ने की दिशा में काम करने को कहा।

कहा कि लोकल स्थानीय उत्पादों को विश्व स्तरीय बनाना है। जिससे शिल्पियों को रोजगार मिले और उनकी आमदनी बढ़ सके। शिल्पियों द्वारा बांस एवं रिंगाल का सुंदर कलात्मक उपयोगी सामान, श्रृंगार की ज्वेलरी भी शामिल बनाना सिखाया गया।

इस अवसर पर प्रबंधक उत्तराखंड बांस एवं रेशम रेशा विकास परिषद दिनेश जोशी द्वारा बांस एवं रिंगाल क्षेत्र के विकास के लिए महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। यूकोस्ट के महानिदेशक डॉ राजेंद्र डोभाल ने परियोजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। और ग्रामीणों से इन योजनाओं का लाभ उठाने की अपील की।