बड़ी खबर: (कोरोना का कहर) एयरपोर्ट पर कम हुई पैसेंजरों की संख्या

0
457

एअर लाइंस और टैक्सी चालकों के सामने खड़ा हुआ संकट

Dehradun. कोरोना वायरस का असर हवाई क्षेत्र पर भी पड़ा है। जिस कारण हवाई पैसेंजरों की संख्या में काफी कमी आई है।

देहरादून का जौलीग्रांट एयरपोर्ट उत्तराखंड का सबसे बड़ा एयरपोर्ट है। जहां देश के विभिन्न शहरों से फ्लाइटें आती और जाती हैं। इस एयरपोर्ट पर हर रोज 22 के लगभग एअर इंडिया, इंडिगो, स्पाइसजेट की फ्लाइटें आती हैं।

जिनमें हजारों यात्री आवाजाही करते हैं। चार्टड विमानों की आवाजाही की संख्या अलग है। इन दिनों कोरोना की डर से सभी एयरलाइंस में हवाई यात्रियों की संख्या में काफी कमी हो गई है। इससे एयर लाइंस और एयरपोर्ट पर काम कर रहे सैकड़ों टैक्सी चालकों के सामने संकट खड़ा हो गया है।

देहरादून एयरपोर्ट पर विभिन्न शहरों से आने वाली फ्लाइटों में पैसेंजरों की संख्या आधी हो गई है। जबकि देहरादून से जाने वाले पैसेंजरों की संख्या में थोड़ी ही कमी आई है। लोग एयरपोर्ट जाने से बच रहे हैं। जिसका असर सीधे तौर पर एयर लाइंस और दूसरे कारोबार पर पड़ रहा है। आगामी 29 मार्च से दून एयरपोर्ट पर विस्तारा कंपनी भी अपनी फ्लाइट उतार रही है।

कोरोना वायरस के चलते विस्तारा कंपनी अपनी फ्लाइट शुरू करने के बारे में दोबारा विचार कर सकती है। उधर एयरपोर्ट निदेशक डीके गौतम से फोन पर संपर्क नहीं हो सका। लेकिन सुत्रों का कहना है कि कोरोना के कारण एयरपोर्ट पर पैसेंजरों की संख्या में पिछले दो तीन दिनों से ज्यादा कमी देखी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here