उत्तराखंडदेशदेहरादूनधर्म कर्मपर्यटनस्वास्थ्य और शिक्षा

(कामयाबी) देहरादून एयरपोर्ट को सीएसआई सर्वे में देश में तीसरा स्थान

Listen to this article

देश के 50 से अधिक एयरपोर्ट पर हर छह में सीएसआई करता है सर्वे

चंद्रमोहन कोठियाल

Dehradun. देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट को कस्टमर सेटिस्फेक्शन इंडेक्स (सीएसआई) द्वारा किए गए सर्वे में देश में तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है।

कस्टमर सेटिस्फेक्शन इंडेक्स (सीएसआई) द्वारा देश में करीब 50 एयरपोर्ट पर प्रत्येक छह माह में इस सर्वे को किया जाता है। निर्धारित मानकों पर खरा उतरने के बाद एयरपोर्ट को रैंक दी जाती है। सर्वे करते हुए लगभग 33 पैरामीटर को ध्यान में रखा जाता है।

इसी सर्वे में देहरादून एयरपोर्ट ने तीसरा स्थान प्राप्त किया है। इसमें वॉशरूम, ट्राली सुविधा, वाई फाई, चैकिंग, बोडिंग, रेस्टोरेंट, एटीएम और हवाई पैसेंजरों की दूसरी सुविधाओं आदि को ध्यान में रखा जाता है।

इस लिहाज से देश के एयरपोर्ट को दो श्रेणियों में रखा जाता है। एक श्रेणी में बीस लाख पैसेंजर से ऊपर के एयरपोर्ट और दूसरी श्रेणी में बीस लाख पैसेंजरों से कम के एयरपोर्ट को शामिल किया जाता है।

देहरादून एयरपोर्ट को बीस लाख पैसेंजर से कम श्रेणी वाले एयरपोर्ट में यह स्थान दिया गया है। बता दें कि स्वच्छता के मामले में भी कुछ वर्ष पूर्व देहरादून एयरपोर्ट को बेहतर स्थान हासिल हुआ था। देहरादून एयरपोर्ट को कामर्शियल और सामरिक दोनों दृष्टि से इस्तेमाल किया जाता है।

वर्तमान में एयरपोर्ट पर प्रतिदिन बीस से अधिक कामर्शियल फ्लाइट उतर रही हैं। और चार्टड या प्राईवेट विमानों की आवाजाही अलग है। वहीं सीमा पर चौकसी और आपदा में रेस्क्यू के लिए भी इस एयरपोर्ट का काफी महत्व है।

हाल ही में चमोली में आई आपदा के वक्त देहरादून एयरपोर्ट से ही रेस्क्यू शुरू किया गया था। सुखोई एमकेआई, हरक्यूलिस, चिनूक, भीमकाय विमान ग्लोबमास्टर सी 17 आदि इस एयरपोर्ट पर कई बार आवाजाही कर चुके हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!