अपराधउत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

शराब बिक्री बढाने को भानियावाला शहीद राजेश नेगी तिराहे के पास ठेका लाने की तैयारी

खबर को सुने

कांग्रेस और यूकेडी ने खोला अंग्रेजी शराब ठेके के खिलाफ मोर्चा

डोईवाला। शराब की बिक्री बढाने को डोईवाला अंग्रेजी शराब के ठेके को भानियावाला शहीद राजेश नेगी तिराहे के पास लाने की तैयारियां की जा रही हैं।

जिसकों लेकर युवा कांग्रेस और यूकेडी ने शराब ठेका संचालकों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए प्रदर्शन किया। युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष राहुल सैनी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर भानियावाला में शराब ठेका खोलने का विरोध किया। सैनी ने कहा कि जिस स्थान पर डोईवाला के शराब ठेके को शिफ्ट किया जा रहा है।

उस स्थान के नजदीक दो नामी स्कूल और एक धार्मिक स्थल है। और भारी वाहनों का ट्रैफिक भी है। जिससे कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है। युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव मनीष यादव और नगर अध्यक्ष महेश लोधी ने कहा कि शराब की बिक्री बढाने को क्षेत्र का माहौल खराब नहीं किया जा सकता है।

एसडीएम को ज्ञापन भी सौंपा गया। मौके पर अंकुश सैनी, स्वतंत्र बिष्ट, सावन राठौर, आरिफ अली, सतनाम सिंह, राहुल आर्य, विमल गोला, अजय सैनी, आदि मौजूद रहे।

उधर यूकेडी कार्यकर्ताओं ने भी भानियावाला में शराब ठेका खोले जाने को लेकर प्रदर्शन किया। यूकेडी नेता शिव प्रसाद सेमवाल ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि सिर्फ शराब कारोबारियों के लाभ के लिए मनमानी नहीं करने दी जाएगी। प्रमोद डोभाल ने कहा कि ठेके के आगे सड़क काफी संकरी है। और वाहनों का काफी दबाव है।

इसलिए शराब का ठेका कहीं और खोला जाना चाहिए। कहा कि यदि जनभावनाओं के विपरीत ठेका खोला गया तो यूकेडी कार्यकर्ता प्रदर्शन करेंगे।

नया हाईवे बनने के कारण शराब की बिक्री घटी

दरअसल देहरादून-हरिद्वार मुख्य मार्ग अब फोन लेन में तब्दील हो गया है। और यह फोर लेन डोईवाला के बाहर से ही भानियावाला से आगे लच्छीवाला फ्लाई ओवर पर मिलकर आगे निकल गया है। इसलिए डोईवाला में अब सिर्फ लोकल लोग ही आवाजाही करते हैं। देहरादून से हरिद्वार या हरिद्वार की तरफ से देहरादून आने वाले लोगों को अब डोईवाला नहीं जाना पड़ता है।

जिस कारण शराब की बिक्री घट गई है। यही कारण है कि बोतल पर 50 रूपए, अध्धे पर 30 और पव्वे पर 20 रूपए अधिक लेने वाले ठेका संचालक अब भानियावाला में ठेका जमाकर क्षेत्र का माहौल खराब करना चाहते हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!