उत्तराखंडदेहरादूनराजनीतिस्वास्थ्य और शिक्षा

छलांग मारने को doiwala hospital की छत पर चढ़ी आंदोलनकारी महिलाएं, मौके पर पहुंची पुलिस

Listen to this article

अनुबंध निरस्त कराने को सरकारी अस्पताल की छत पर चढ़ी आंदोलनकारी महिलाएं

डोईवाला। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोईवाला का अनुबंध निरस्त कराने की मांग को लेकर आंदोलनकारी महिलाएं सीएचसी डोईवाला के छत पर चढ़ गई।

पिछले 31 दिन से आंदोलन कर रही आंदोलनकारी महिलाएं अस्पताल छत पर चढ़ी गई। और अनुबंध समाप्त न किए जाने पर छत से छलांग मारने की जिद पर अड़ गई। एलआईयू के माध्यम से इसकी सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूल गए तत्काल मौके पर भारी पुलिस बल पहुंच गया और पुलिस ने सूझबूझ का परिचय देते हुए उन्हें छत पर ही घेर लिया।

छत पर महिलाओं की ज्यादा संख्या को देखते हुए लाल तप्पड़ से लेकर रायवाला तक से महिला पुलिस बल को बुला लिया गया। काफी मशक्कत के बाद महिला पुलिस बल ने बमुश्किल आंदोलनकारी महिलाओं को छत से उतारने में कामयाबी पाई। उत्तराखंड क्रांति दल की महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष सुलोचना ईष्टवाल ने चेतावनी दी कि यदि सरकार ने संज्ञान नहीं लिया तो महिलाएं आत्मदाह करने का कदम उठाएंगे।

उत्तराखंड क्रांति दल युवा मोर्चा की जिला अध्यक्ष सीमा रावत ने कहा कि यह अस्पताल ट्रेनी डॉक्टरों की प्रयोगशाला बन चुका है, आए दिन मरीजों की मौत हो जाती है। उत्तराखंड क्रांति दल के जिला अध्यक्ष संजय डोभाल ने बताया कि आये दिन गलत इलाज से कई लोगों की जान जाने से बेहतर है, यदि उनके आत्मदाह के बाद सरकार जागती है तो यह उनका सौभाग्य होगा, इसलिए अब अगला कदम आत्मदाह ही होगा। केंद्रीय मीडिया प्रभारी शिव प्रसाद सेमवाल ने चेताया है कि यह अस्पताल रेफर सेंटर बन चुका है और सभी माध्यमों से सरकार तक उनकी मांग पहुंच चुकी है।

यदि अनुबंध वापिस नहीं हुआ तो यह आंदोलन और अधिक उग्र रूप ले सकता है। आंदोलनकारी अनुबंध निरस्त कराने की मांग को लेकर काफी देर तक छत पर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। मौके पर संजू किरसाली, मंजू रावत, कलावती, सुधा बिष्ट, शालिनी, हेमलता, सरस्वती, कविता गुसाईं, मीना थपलियाल, सविता श्रीवास्तव, मंजू रावत, सरोज रावत, चंपा देवी, राधा देवी, आशा पुंडीर, दीपा राणा, रामेश्वरी नौटियाल, भारती देवी, गीता देवी, गोमती, कलावती, भावना मैठाणी, कमला देवी, सुधा देवी, मीना नौटियाल आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!