उत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

कांडरवाला पेयजल योजना से जुड़े कार्यो की जांच के आदेश

खबर को सुने

एक हफ्ते में जांच पूरी कर सौंपनी होगी रिपोर्ट

Dehradun. नगर पालिका क्षेत्र में कांडरवाला पेयजल योजना से जुड़े कार्यो की जांच के आदेश दिए गए हैं।

सभासद की शिकायत पर कांडरवाला पहुंचे मुख्य अभियंता गढवाल योगेंद्र कुमार मिश्रा और उनकी टीम ने पेयजल योजना और उससे जुड़े कार्यो की जांच की। सभासद हिमांशु राणा ने कहा कि पेयजल योजना में कई खामियां हैं। इस योजना को नाबार्ड ने 2018 के लगभग बनाकर जल संस्थान को हैंड ओवर किया था। कांडरवाला में जो कॉलोनी सबसे पहले बसी थी।

उन्हे इस पेयजल योजना का पूरा लाभ नहीं मिल रहा है। कुछ समय पहले संबधित विभाग की टीम के साथ जब घरों में जाकर जल मीटर की गणना की कई तो अधिकारी सिर्फ 143 मीटर की गणना करके चलते बने। जबकि सूचना अधिकार में मिली जानकारी के अनुसार कांडरवाला पेयजल योजना में कुल 850 पेयजल मीटर लगाए जाने थे।

बाकि के मीटर कहां गए अधिकारी बताने को तैयार  नहीं हैं। वहीं मीटर की गुणवत्ता पर भी सवाल उठाए हैं। आरोप है कि घटिया क्वालिटी के मीटर लोगों को हाथों में थमाए गए हैं। और जो मीटर जल कनेक्शन में फिट किए गए हैं। वो ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। इसलिए इस मामले में दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए। उधर मुख्य अभियंता गढवाल योगेंद्र कुमार मिश्रा ने कहा कि मौके पर जाकर निरीक्षण करने के बाद कांडरवाला में पेयजल लाइन विस्तार के लिए प्रस्ताव मांगा गया है। 850 मीटर कहां लगे हैं। और मीटर की गुणवत्ता के जांच के आदेश दे दिए हैं।

जिसकी रिपोर्ट एक सप्ताह में देने को कहा गया है। मौके पर सभासद संदीप नेगी, विनीत मनवाल, रेखा देवी, मधुसूदन, विजयपाल राणा, शैलेंद्र नेगी, अन्नू पवार, वेद प्रकाश कंडवाल, गुड्डू मिश्रा, दिग्विजय रावत, महावीर रावत, रजनी पयाल, दमयंती जोशी, आनंदी देवी, बीना पवार, परमेश्वरी रावत, सुखदेव चौहान, वीरेंद्र राणा, आदि उपस्थित रहे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!