उत्तराखंडदेशदेहरादूनराजनीति

जमीन वापसी और आत्मसम्मान के लिए किसान कर रहे आंदोलन: टिकैत

Listen to this article

तन, मन, धन से सर्मथन देने की अपील

Dehradun. संयुक्त किसान मोर्चे द्वारा डोईवाला में किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। जिसमें भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत शामिल हुए।

जिसमें भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा कि किसान आंदोलन एक धर्मयुद्ध है। जिसमें सभी को सहयोग करना चाहिए। कहा कि ये जमीन वापसी और आत्म सम्मान की लड़ाई है। जिसमें किसानों को जीत जरूर मिलेगी।

इस आंदोलन में सभी को तन, मन, धन से सहयोग करना चाहिए। और लोग किसान आंदोलन में भाग न ले सकें उन्हे अपने मन से किसानों की जीत के लिए प्रार्थना करनी चाहिए।

किसानों को खालिस्तानी और आंतकवादी कहना दुर्भाग्यपूर्ण है। राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ युवा इकाई के राष्ट्रीय अध्यक्ष अभिमन्यु कोहाड ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में सबसे अधिक योगदान किसानों का है। लेकिन इसके बावजूद उनकी बात नहीं सुनी जा रही है।

उत्तराखंड में किसानों के ऋण माफ नहीं किए गए हैं। मौके पर सुरेंद्र सिंह राणा, दलजीत सिंह, अश्वनी त्यागी, इंद्रजीत सिंह, अंशुल त्यागी, उमेद बोरा, मनोहर सिंह सैनी, करनैल सिंह, हरेंद्र बलियान, अमीर हसन आदि उपस्थित रहे।

उत्तराखंड क्रांति दल ने किसान महापचायत मे पहुंच कर दिया समर्थन

डोईवाला। उत्तराखंड क्रांति दल ने आज डोईवाला विधानसभा मे आयोजित किसान महापंचायत मे पहुंच कर अपना समर्थन दिया। यूकेडी नेता शिवप्रसाद सेमवाल ने कहा कि देश के किसानों की समस्याएं एक जैसी हैं।

इसलिए देश के मजदूर व किसान को एकजुट होने की जरूरत है। तभी किसानों के हित सुरक्षित रह सकते हैं। न्यूनतम समर्थन मूल्य के अभाव मे तमाम फसलें खराब हो जाती हैं। इसके अलावा जंगली सूअर, भालू, बंदर किसानों की फसलों को बरबाद कर देते हैं। लेकिन किसानों के नुकसान की भरपाई नही हो पाती है।

किसान महापंचायत मे शांति प्रसाद भट्ट, केंद्रीय संगठन मंत्री संजय बहुगुणा, जिलाध्यक्ष केंद्रपाल सिंह तोपवाल, प्रमोद डोभाल, जेएस गुसाईं, पेशकार गौतम, बाबू लाल गौतम,सीमा रावत, अनदीप नेगी, अवतार बिष्ट आदि कार्यकर्ता शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!