उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनराजनीतिविदेश

(PM Modi in Dehradun) पीएम मोदी ने दी 18 हजार करोड़ की सौगात, बोले आज की सरकार किसी के दबाव में नहीं आती

Listen to this article

देहरादून। पीएम मोदी ने परेड ग्राउंड, देहरादून से राज्य को 18 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाएं की सौगात दी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड पूरी देश की आस्था ही नहीं, बल्कि कर्म और कठोरता की भी भूमि है। आज जिन परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है वे इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने में अहम भूमिका निभाएंगी। उन्होंने कहा कि आज की सरकार किसी देश के दबाव में काम नहीं करती। 10 साल तक देश में इंफ्रास्ट्रक्चर के नाम पर घोटाले हुए। हम दिन रात मेहनत करके आज भी उनकी भरपाई करने में जुटे हुए हैं।

पिछली सरकार ने देश का और उत्तराखंड का समय बर्बाद किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे पहाड़, हमारी संस्कृति, आस्था के गढ़ तो हैं ही, ये हमारे देश की सुरक्षा के भी किले हैं। पिछली सरकारों ने वन रैंक, वन पेंशन की अनदेखी की। बॉर्डर के पास सड़कें और पुल बनें, इस ओर पिछली सरकारों ने ध्यान नहीं दिया। सेना को निराश करने का काम किया।

आज सेना गोली का जवाब, गोली से देती है। उन्होंने कहा कि आज मैं यह कह सकता हूं कि उत्तराखंड का पानी और जवानी यहीं के काम आएंगे। इसके अलावा पीएम ने कहा कि कुछ राजनीतिक दल भेद करके एक तबके के लिए वोटबैंक की राजनीति करते हैं जबकि हम सभी के लिए योजनाएं बनाते हैं। हमारा मार्ग कठिन जरूर है लेकिन हम देशहित में काम करते हैं। पहले की सरकारों ने सोची समझी रणनीति के तहत जनता को ताकतवर नहीं बनने दिया।

ऐसा कोई संकल्प नहीं जो ये देवभूमि सिद्ध नहीं कर सकती

पीएम मोदी ने कहा कि साढ़े सात लाख घरों में नल से जल पहुंचा। उत्तराखंड में अब होम-स्टे लगभग हर गांव में पहुंच चुके हैं। लोग बहुत सफलता से यहां होम-स्टे चला रहे हैं। आने वाले पांच साल उत्तराखंड को रजत जयंती की ओर ले जाने वाले हैं। ऐसा कोई काम नहीं जो उत्तराखंड नहीं कर सकता। ऐसा कोई संकल्प नहीं जो ये देवभूमि सिद्ध नहीं कर सकती। देशभर में जो बिखर रहे हैं वो उत्तराखंड को निखार नहीं सकते हैं। आपके आशीर्वाद से ये डबल इंजन उत्तराखंड का विकास करता रहेगा।

सोची-समझी रणनीति के तहत जनता को कुचला गया

जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ राजनीतिक दलों द्वारा समाज में भेद करके सिर्फ एक तबके को, चाहे वो अपनी जाति का हो, किसी खास धर्म का हो या अपने छोटे से इलाके के दायरे का हो, इसी पर ध्यान देना यही प्रयास हुए हैं और उसमें ही उनको अपना वोट बैंक नजर आता है। देश के सामान्य मानवी का स्वाभिमान, उसका गौरव सोची-समझी रणनीति के तहत कुचल दिया गया, उसे आश्रित बना दिया गया। लेकिन इस अप्रोच से अलग हमने अलग रास्ता चुना है। हमारा मार्ग है, सबका साथ-सबका विकास।

हम आपको ताकतवार बनाना चाहते हैं

पीएम ने कहा कि वन रैंक वन पेंशन हो, आधुनिक अस्त्र-शस्त्र हो, आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देना हो, जैसे उन लोगों ने हर स्तर पर सेना को हतोत्साहित करने की कसम खा रखी थी। आज जो सरकार है वो दुनिया के किसी देश के दबाव में नहीं आ सकती। हमने जो रास्ता चुना है वो रास्ता कठिन है, मुश्किल है लेकिन वो देश हित में है। हमारा मार्ग है सबका साथ, सबका विकास, हमने कहा जो भी योजना लाएंगे सबके लिए लाएंगे। हमने वोटबैंक की राजनीति को आधार नहीं बनाया। देशहित को प्राथमिकता दी। हम आपको ताकतवार बनाना चाहते हैं। हम आपको आश्रित नहीं आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं। जैसा हमने कहा था जो हमारा अन्नदाता है वो ऊर्जादाता भी बने। इसके लिए हम खेत के किनारे पर सोलर पैनल लगाने की योजना लेकर आए। इससे देश पर भार भी नहीं बढ़ा और किसान को बिजली भी मिल गई।

2019 में 10 लाख से ज्यादा लोग केदारनाथ जी के दर्शन करने पहुंचे

पीएम ने कहा कि देवभूमि में श्रद्धालु भी आते हैं। उद्यमी भी आते हैं। प्रकृति प्रेमी सैलानी भी आते हैं। इसजलिए यहां आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर अभूतपूर्व काम किया जा रहा । ऑलवेदर रोड परियोजना के तहत आज चारधाम यात्रा आसान हो रही है। केदारनाथ त्रासदी से पहले 2012 में 570000 लोगों ने दर्शन किया था और यह उस समय का एक रिकॉर्ड था। जबकि कोरोना कॉल शुरू होने से पहले 2019 में 10 लाख से ज्यादा लोग केदारनाथ जी के दर्शन करने पहुंचे।

ये सरकार किसी के दबाव में नहीं आती

पीएम ने कहा कि आज की सरकार किसी के दबाव में नहीं आती। पहले की सरकार ने उत्तराखंड में नेशनल हाईवे पर 7 साल में 600 करोड़ के आस पास खर्च किया। हमारी सरकार ने 7 साल में नेशनल हाईवे पर 12,000 करोड़ रुपये से अधिक खर्च कर चुकी है। पहले की सरकारों ने अपनी तिजोरी भरी। हम आपका सपना पूरा करने के लिए दिनरात मेहनत कर रहे हैं। आज समय से साथ राजनीति में विकृति आ गई है। समाज में भेद करके किसी एक जाति को, एक तबके की तरफ ध्यान देना बस यही काम हुए। आज उत्तराखंड में तीन मेडिकल कॉलेज खुल रहे हैं। आज की सरकार सीधे जनता के पास जाती है। पहले की सरकारों ने जनता को ताकतवार नहीं बनने दिया।

पहले की सरकार ने बॉर्डर के पास निर्माण पर ध्यान नहीं दिया

प्रधानमंत्री ने कहा कि केदारनाथ त्रासदी से पहले, 2012 में 5 लाख 70 हजार लोगों ने दर्शन किये थे। ये उस समय एक रिकॉर्ड था। जबकि कोरोना काल शुरू होने से पहले, 2019 में 10 लाख से ज्यादा लोग केदारनाथ जी के दर्शन करने पहुंचे थे। पहले की सरकारों ने गंभीरता से काम नहीं किया। हर स्तर पर सेना को निराश करने का काम हुआ। वन रैंक वन पेंशन की अनदेखी हुई। बॉर्डर के पास निर्माण पर ध्यान नहीं दिया। कुछ करने का जुनून हो तो सूरत भी बदलती है और सीरत भी बदलती है।

10 साल जो सरकार रही उसने वक्त बर्बाद किया

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछली सरकारों ने सात सालों में क्या किया। 10 साल तक देश में इंफ्रास्ट्रक्चर के नाम पर घोटाले हुए, घपले हुए। इससे देश का जो नुकसान हुआ उसकी भरपाई के लिए हमने दोगुनी गति से मेहनत की और आज भी कर रहे हैं। इस शताब्दी की शुरुआत में, अटल जी ने भारत में कनेक्टिविटी बढ़ाने का अभियान शुरू किया था। लेकिन उनके बाद 10 साल देश में ऐसी सरकार रही, जिसने देश का, उत्तराखंड का, बहुमूल्य समय व्यर्थ कर दिया। आज मैं गर्व से कह सकता हूं कि उत्तराखंड का पानी और जवानी उत्तराखंड के काम आया। 10 साल ऐसी सरकार रही जिसने वक्त बर्बाद किया।

जो मार्ग चुना है कठिन है, लेकिन देशहित में है

समय के साथ हमारे देश की राजनीति में कईं विकृतियां आ गई हैं। कुछ राजनीतिक दल समाज मे किसी खास धर्म, जाति या अपने इलाके की तरफ ध्यान देते हैं। उसमें उन्हें वोटबैंक नजर आता है। इन दलों ने एक और तरीका अपनाया है। जनता को मजबूत नहीं होने देना। वह चाहते रहे कि जनता हमेशा मजबूर बनी रहे। जनता को अपना मोहताज बनाओ, ताकि उनका ताज महफूज रहे। उन दलों के सभी प्रयास इसी दिशा में हुए। हमने एक नया रास्ता चुना है, वह मार्ग कठिन है लेकिन देशहित में है। सबका साथ, सबका विकास हमारा मार्ग है। हम जो भी योजना लाएंगे, सबके लिए लाएंगे। बिना भेदभाव के लाएंगे।

पहाड़ देश की सुरक्षा के किले

जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बीते वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद, अनेक जरूरी प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद आखिरकार आज ये दिन आया है। आज भारत, आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपए से अधिक के निवेश के इरादे से आगे बढ़ रहा है। आज भारत की नीति, गतिशक्ति की है, दोगुनी-तीन गुनी तेजी से काम करने की है। आज देश नवनिर्माण में जुटा है। केदारनाथ का पुनर्निर्माण किया गया। हमारे पहाड़ आस्था और संस्कृति के गढ़ हैं। पहाड़ देख की सुरक्षा के लिए किले हैं।

पिछली सरकारों के घोटालों की भरपाई कर रहे

पीएम मोदी ने कहा कि उत्तराखंड पूरी देश की आस्था ही नहीं, बल्कि कर्म और कठोरता की भी भूमि है। इसलिए इस क्षेत्र का विकास, इस क्षेत्र को भव्य स्वरूप देना, डबल इंजन की सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। भारत की नीति गति शक्ति में है। पिछली सरकार में कई घोटाले हुए। हम आज भी उनकी भरपाई कर रहे हैं। हम पुराने तौर-तरीको को छोड़कर आगे बढ़ रहे हैं।

डबल इंजन की सरकार विकास की गंगा बहा रही है

देहरादून के परेड ग्राउंड में राज्य को 18 हजार करोड़ रुपए की सौगात देने के बाद पीएम मोदी ने जनसभा को संबोधित करना शुरू किया। उन्होंने स्थानीय भाषा में अपने संबोधन की शुरुआत की। पीएम ने कहा कि ये परियोजनाओं इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने में अहम भूमिका निभाएंगी। इन सभी प्रोजेक्ट्स के लिए उत्तराखंड के लोगों का बहुत-बहुत अभिनंदन करता हूं, बहुत-बहुत बधाई देता हूं। जो लोग पूछते हैं डबल इंजन की सरकार का फायदा क्या है, वो देख सकते हैं कि कैसे डबल इंजन की सरकार विकास की गंगा बहा रही है।

स्वार्थी दल दीमक के समान

सीएम धामी ने कहा कि पीएम के नेतृत्व में हमारी सरकार जनता के प्रति विकास को लेकर प्रतिबद्ध है। हमने पांच महीने में 500 से ज्यादा फैसले लिए हैं। आज हमारी सेना दुश्मन को उसके घर में जाकर मारने का काम करती है। सीमा पर हमारे जवान दुश्मन की गोली का जवाब गोली से देते हैं। हमारे देश के कुछ स्वार्थी दल दीमक के समान हैं। उन्होंने सिर्फ अपने परिवार का भला किया और देश को खोखला करने का काम किया है। ये सिर्फ चिकनी-चुपड़ी बातें करते हैं। हमें इनसे सावधान रहने की जरूरत है। जिन्होंने उत्तराखंड का विरोध किया था वो अब उत्तराखंडियत की बात कर रहे हैं। इन्हें वोट की चोट से ही जवाब दिया जा सकता है। हमारा एक ही ध्येय है- उत्तराखंड का विकास।

सीएम बोले बरसों से लंबित पड़े मुद्दों का समाधान हुआ

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि पीएम ने बरसों से लंबित पड़े मुद्दों का समाधान किया। अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है। कश्मीर से धारा 370 को हटाया गया। आपके नेतृत्व में भारत ने न केवल कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ी बल्कि मेड इन इंडिया वैक्सीन देकर विश्व गुरू बना। हमारी सरकार आपके नेतृत्व में प्रोएक्टिव मोड में काम करने को प्रतिबद्ध है। आप भी यहां के कार्य की निगरानी करते रहते हैं।

पीएम के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा

उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि ये हमारा सौभाग्य है कि हमारा देश आज पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकास पथ की ओर बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री जी, मैं आपको इस विश्वास दिलाता हूं कि आपके महायज्ञ के लिए जिस भी आहुति की जरूरत होगी उसके लिए उत्तराखंड के लोग तत्पर रहेंगे। कोरोना काल में जहां एक ओर पीएम ने गरीबों लोगों को दो वक्त का भोजन दिया वहीं आयुष्मान योजना से उन्हें विश्वास दिलाया कि उन्हें मुफ्त इलाज मिलेगा।

7 साल में 12,000 करोड़ के नेशनल हाईवे बनवाए

2007 से 2014 के बीच केंद्र सरकार ने उत्तराखंड में 600 करोड़ रुपये के केवल 288 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण किया। जबकि हमारी सरकार ने अपने 7 वर्षों में उत्तराखंड में 12,000 करोड़ रुपये के 2,000 किलोमीटर से अधिक के राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण किया है। कोरोनकाल में उत्तराखंड में 50 से अधिक नए ऑक्सीजन प्लांट लगे हैं। आज प्रदेश मे नए मेडिकल कॉलेज, आईआईटी, आईआईएम, भावी पीढ़ी के भविष्य को मजबूत करने का काम कर रहे हैं।

पहाड़ का पाणी और जवानी पहाड़ के काम ही आली

पीएम मोदी ने कहा कि पांच साल पहले मैंने कहा था, जो कहा था, उसको याद करने की ताकत राजनेताओं में जरा कम होती है। मुझमें है। आज मैं गर्व से कह सकता हूं कि उत्तराखंड का पाणी और जवानी उत्तराखंड के काम ही आली। एक समय पहाड़ पर रहने वाले लोग विकास की मुख्यधारा से जुड़ने का सपना ही देखते थे। हमें कब सड़क मिलेगी, बिजली मिलेगी, कब स्वास्थ्य सुविधा मिलेगी, लेकिन जब कुछ करने का जुनून हो तो सूरत भी बदलती है और सीरत भी बदलती है। आज सरकार इस बात का इंतजार नहीं करती की लोग समस्या लेकर आएंगे। आज सरकार सीधे नागरिकों के पास जाती है। एक समय था कि उत्तराखंड में सवा लाख घरों में नल से जल पहुंचता था। आज सात लाख से ज्यादा घरों में जल पहुंच रहा है। पूर्व की सरकारों ने हर स्तर पर सेनाओं को निराश करने की कसम खाई हुई थी लेकिन हमारी सरकार दुनिया के किसी देश के दबाव में नहीं आती।

दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस बनेगा विकास का मॉडल

पीएम ने कहा कि दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस वे हमारे विकास के मॉडल का भी प्रमाण होगा। इसमें एशिया का सबसे बड़ा एलिवेटेड वाइल्डलाइफ कॉरिडोर भी बनेगा। पहले जब भी मैं उत्तराखंड आता था याद रखना आने-जाने वालों से मिलता था वह हमेशा कहते थे मोदी जी दिल्ली से देहरादून की यात्रा गणेशपुर तक तो आसानी से हो जाती है, लेकिन गणेशपुर से देहरादून तक बड़ी मुश्किल होती है आज मुझे बहुत खुशी है कि दिल्ली देहरादून इकनॉमिक कॉरिडोर का शिलान्यास हो चुका है। जब यह बनकर तैयार हो जाएगा तो दिल्ली से देहरादून आने में जो समय लगता है वह करीब करीब आधा हो जाएगा। इससे ना केवल देहरादून के लोगों को फायदा पहुंचेगा बल्कि हरिद्वार, मुजफ्फरनगर, शामली बागपत और मेरठ जाने वालों को भी सुविधा होगी।

घोटालों की भरपाई दोगुनी रफ्तार से काम कर करेंगे

पीएम ने कहा कि दस साल में देश मे जो घोटाले हुए, उसकी भरपाई के लिए हम दोगुनी रफ्तार से काम कर रहे हैं। आज भारत आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर दो लाख करोड़ से अधिक के निवेश के इरादे से आगे बढ़ रहा है। आज भारत की नीति दोगुनी तेजी से काम करने की है। 21वीं सदी के इस कालखंड में कनेक्टिविटी का एक ऐसा महायज्ञ चल रहा है जो भारत को विकसित देशों की संख्या में लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

पीएम मोदी ने दी 18 हजार करोड़ की सौगात

चुनाव से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने देहरादून से प्रदेश को 18 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। पीएम ने 15626 की योजनाओं का शिलान्यास और 2573 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण किया।

 

इन योजनाओं का किया शिलान्यास 

1- दिल्ली देहरादून एक्सप्रेस-वे 

2- ग्रीनफील्ड एलाइनमेंट

3- हरिद्वार रिंग रोड

4- लक्ष्मण झूला के पास पुल 

5- देहरादून-पौंटा साहिब मार्ग 

 

इनका किया लोकार्पण

1- व्यासी जल विद्युत परियोजना 

2- ऑल वेदर रोड, देवप्रयाग से श्रीकोट 

3- ऑल वेदर रोड, ब्रहम्पुरी से कौड़ियाला 

4- ऑल वेदर रोड, लामबगड़ 

5- ऑल वेदर रोड, साकणीधार, देवप्रयाग और श्रीनगर 

6- हिमालयन कल्चरल सेंटर देहरादून

7- सगंध पौधा केंद्र सेलाकुई 

दो घंटे में पहुंच पाएंगे दिल्ली से देहरादून: सीएम

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि पीएम मोदी तपस्वी की तरह देश की सेवा कर रहे हैं। सिंह अपने गुण और अपने पराक्रम से खुद अपना शासन प्राप्त करता है, यह कहावत पीएम पर फिट बैठती है। आज संपूर्ण विश्व मोदी जी के प्रयासों की सराहना कर रहा है। आज देश का बच्चा-बच्चा केंद्र की योजनाओं से भली भांति परिचित है। कोरोना काल में जहां अन्न योजना से करोड़ों लोगों को भोजन दिया, वहीं आयुष्मान योजना से निशुल्क इलाज मिला। पीएम के नेतृत्व में वर्षों से लंबित दर्जनों मामलों का हल निकला है। राम मंदिर का वर्षों से लंबित कार्य पीएम के चमत्कारी नेतृत्व में आज अद्भुत आकार ले रहा है। दिल्ली-देहरादून आर्थिक गलियारे से दिल्ली से देहरादून की दूरी मात्र 2 घंटे में पूरी की जा सकेगी। कुछ वर्ष पूर्व ऐसा सोचना भी अकल्पनीय सा लगता था। चाहे आज सड़क मार्ग को उत्तराखंड को कोने-कोने से जोड़ना हूं या देव भूमि के शहरों को हेली सेवा से जोड़ना हो प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में हमने कनेक्टिविटी को विकास का मूल मानकर कार्य किया है

पीएम मोदी ने थपथपाया सीएम धामी धामी का कंधा

सीएम धामी ने कहा कि  जिन लोगों ने उत्तराखंड राज्य बनाने का विरोध किया था, आज वह उत्तराखंडियत की बात कर रहे हैं। सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगने वाले लोग देश विरोधी हैं। हमें 2025 में रजत जयंती तक उत्तराखंड को देश का विश्वस्त राज्य बनाना है। कहा कि चुनाव आने वाले हैं, कुछ स्वार्थी तत्व तरह-तरह की बातें करेंगे। हमारे प्रदेश में भी ऐसे दल व नेता हैं जो साढ़े चार साल बाद सक्रिय होकर जनता को बरगलाने का काम कर रहे हैं। सीएम धामी के भाषण के बाद पीएम मोदी ने सीएम धामी का कंधा थपथपाया।

माहौल बिगाड़ रहे कुछ लोग

सीएम धामी ने कहा मुझे गर्व है कि मेरे जैसे सैन्य परिवार से आने वाले व्यक्ति को इस राज्य का मुख्य सेवक बनने का अवसर दिया गया है। आज हमारी सेना दुश्मन को उनके घरों में घुसकर मारती है। कुछ तत्व ऐसे हैं जो राजनीति की आड़ लेकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। हमारे देश में कुछ असामाजिक तत्व दीमक के समान हैं, हमें उनसे सावधान रहना होगा।

 

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!