उत्तराखंडदेशदेहरादूनराजनीति

डिजीटल राशन कार्ड बनाने का कार्य शुरू, ये है पूरी प्रक्रिया

Listen to this article

नवीनीकरण के फार्म राशन की दुकानों में पहुंचे

देहरादून। राशन कार्डो के नवीनीकरण का कार्य शुरू कर दिया गया है। अब पुराने राशन कार्डो के स्थानों पर नए राशन कार्ड बनाए जा रहे हैं।

नए राशन कार्ड डिजीटल रूप में बनाए जाएंगे। जिनमें एक चिप लगी होगी। जिसमें राशन कार्ड धारक का पूरा ब्योरा होगा। पूर्ति विभाग ने राशन कार्ड की दुकानों पर सभी उपभोक्ताओं के फार्म भिजवा दिए हैं। उपभोक्ता अपने राशन विक्रेता से संपर्क कर अपना फार्म ले सकते हैं। पूर्ति विभाग के कंप्यूटर में दर्ज उपभोक्ता के पूरे ब्यूरो को नवीनीकरण के फार्मो में दर्शाया गया है। मतलब फार्म में परिवार के मुखिया और अन्य सदस्यों के नाम, आधार संख्या आदि पहले से दर्ज की हुई है। यदि राशन कार्ड धारक का फार्म में दर्ज पूरा ब्योरा सही है तो राशन कार्ड धारक को राशनकार्ड के नवीनीकरण के लिए सिर्फ अपने बैंक खाते की फोटो कॉपी फार्म में लगाकर राशन विक्रेता को सौंपनी है।

इसी बैंक खाते में गैस सिलेंण्डरों की तरह राशन की सब्सिडी कार्ड धारक के खाते में आएगी। डिजीटल राशन कार्ड बनाने के बाद राशन कार्ड धारक किसी भी राशन की दुकान से अपना राशन ले सकेगा। इससे एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाकर रहने वाले लोगों को राशन कार्ड कैसिल करवाकर दूसरे स्थान पर नया राशन कार्ड बनवाने का झंझट खत्म हो जाएगा। डिजीटल राशन कार्ड बनने के बाद राशन की कालाबाजारी पर भी अंकुश लग सकेगा। राशन कार्ड धारकों को चाहिए कि वो अपने राशन विक्रेता से संपर्क कर नवीनीकरण का अपने नाम वाला फार्म लेकर उसकी जांच कर लें। राशन विक्रेता नेमचंद गुप्ता ने कहा कि राशनकार्ड के नवीनीकरण का कार्य शुरू कर दिया गया है। फार्म विक्रेता के पास उपलब्ध हैं।

राशन कार्ड धारकों के फार्म में हैं भारी त्रुटियां

देहरादून। राशन विक्रेताओं को जो फार्म दिए गए हैं। उनमें भारी त्रुटियां हैं। खासकर राशन कार्ड धारकों के आधार नंबर में भारी गड़बड़ी की गई है। एक परिवार के सभी सदस्यों की जन्म की तारीख और महीना एक जैसा दर्ज किया गया है। और भी कई त्रुटियां फार्म में हैं। इसलिए फार्म में जो गलती होगी उसी से संबधित दस्तावेज लगाकर उसे जमा करवाना होगा। तभी नया राशन कार्ड सही बन पाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!