उत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

भारी विरोध के बाद जौलीग्रांट में खुलने वाले शराब ठेके को किया निरस्त

Listen to this article

डोईवाला। स्थानीय लोगों के भारी विरोध के बाद जौलीग्रांट पुलिस चौकी के सामने खुलने वाले शराब ठेके को फिलहाल निरस्त कर दिया गया है।

जिससे स्थानीय लोगों में खुशी की लहर है। रानीपोखरी में अंग्रेजी शराब के ठेके को बंद कर पुलिस चौकी जौलीग्रांट के सामने खोलने की तैयारियां की जा रही थी। जिसके बाद विस्थापित क्षेत्र की महिलाएं और स्थानीय निवासी धरने पर बैठ गए थे। पिछले कई दिनों से यह धरना-प्रदर्शन चल रहा था। विस्थापित और स्थानीय लोगों की मांग थी कि जॉलीग्रांट में शराब ठेका नहीं खोला जाना चाहिए।

इससे क्षेत्र का माहौल खराब होगा। और जौलीग्रांट, अठुरवाला की पहचान को भी नुकसान पहुंचेगा। इस मामले को लेकर स्थानीय लोगों ने पूर्व सीएम और क्षेत्रीय विधायक त्रिवेंद्र सिंह रावत से भी मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा था। पूर्व सीएम के निर्देश के बाद जौलीग्रांट में खुलने जा रहे शराब के ठेके को निरस्त कर दिया गया है। सभासद राजेश भट्ट ने कहा कि इस फैसले से स्थानीय लोगों में खुशी की लहर है।

कांग्रेस और भाजपा दोनों इस मामले में प्रदर्शन कर रहे थे। शुक्रवार को डोईवाला तहसील प्रशासन की तरफ से नायब तहसीलदार रूप सिंह ने मौके पर पहुंचकर जानकारी देते हुए कहा कि डीएम की तरफ से आदेश मिला है कि जॉलीग्रांट में शराब ठेका नहीं खोला जाएगा। शराब ठेका रानीपोखरी में ही रहेगा।

प्रशासन से आश्वासन के बाद लोगों ने धरना प्रदर्शन समाप्त कर दिया। स्थानीय लोगों और महिलाओं ने एक-दूसरे को मिठाई बांटकर बधाई दी। इस दौरान सभासद राजेश भट्ट, विनय कंडवाल, मनीष सजवाण, राकेश, बादल, पवन पंवार, संदीप नेगी, करतार सिंह, शशी नेगी, दीपा असवाल, रजनी देवी, भवानी देवी, लक्ष्मी देवी, दिनेश सजवान, ईश्वर रौथाण, सागर मनवाल, मोहित उनियाल आदि लोग उपस्थित रहे।

आसपास के शराब कोरोबारी भी हुए खुश

डोईवाला। रानीपोखरी और आसपास के क्षेत्र में शराब ठेका संचालित करने वाले लोग भी जौलीग्रांट में शराब ठेका निरस्त होने से खुश हुए होंगे। क्योकि ये लोग जौलीग्रांट में धरना-प्रदर्शन कर रहे लोगों को परदे के पीछे से सर्मथन दे रहे थे। और लगभग हर रोज प्रदर्शन करने वाले लोगों को ठंड़ा, समोसे आदि देकर चले जाते थे।

इन लोगों का मानना था कि जौलीग्रांट में शराब ठेका खुलने से रानीपोखरी और आसपास के ठेका संचालकों का कारोबार बुरी तरह प्रभावित होगा। उधर डोईवाला से बंद कर भानियावाला में खोले गए शराब ठेके का यूकेडी अभी भी विरोध कर रही है। शिवप्रसाद सेमवाल ने कहा कि यूकेडी ने इस मामले को लेकर जिलाधिकारी से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!