उत्तराखंडदेहरादूनधर्म कर्मराजनीति

डोईवाला में कुड़कावाला मार्ग अब जाना जाएगा वीरांगना अवन्तिबाई लोधी मार्ग

Listen to this article

अब डोईवाला पर रहेगा पूरा फोकस: पूर्व सीएम
डोईवाला। डोईवाला में कुड़कावाला मार्ग का नाम वीरांगना अवन्तिबाई लोधी नाम पर किया गया।

जिसका उद्घाटन डोईवाला के विधायक व पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा किया गया। वीरांगना अवन्तिबाई लोधी के बलिदान दिवस के आयोजन पर मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्वलित किया।
कहा कि लोधम से लोधी जाती हुई है। जिसका अर्थ होता है पराक्रमी। देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में उन्होंने अंग्रेजों के हाथों मरणा स्वीकार नही किया बल्कि आत्मबलिदान किए।

देश को आर्थिक रूप से तोड़ने के लिये वर्तमान में लड़ाई हो रही है। और लोगों को मानसिक रूप से कमजोर करने का कार्य किया जा रहा है।

देश का चौथा राज्य है उत्तराखंड जहां कमांडो की ट्रेनिंग दी है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिये स्वयं सहायता समूह को ऋण के साथ साथ रिवॉल्विंग फंड भी दिया। महिलाएं अपने को अबला नही समझे। महिलाएं देश की शक्ति है।

साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के लोग निर्माणकर्ता है। हुनर को इस्तेमाल कर, रचनात्मक सोच के साथ स्वयम रोजगार स्थापित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश की चिंता के बाद अब उन्हें डोईवाला के कार्यों की चिंता रहेगी। चार वर्ष तक उन्होंने अपनी समस्त ताकत और मस्तिष्क की सहायता से जितना भी हो सका कार्य करने का प्रयास किया ।अब डोईवाला की चिंता रहेगी।

कहा कि वीरांगना अवंती बाई लोधी का 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान है। रानी लक्ष्मी बाई के साथ-साथ वीरांगना अवंती बाई लोधी को भी अंग्रेजो के खिलाफ युद्ध में आत्म बलिदान के लिए जाना जाता है। 20 मार्च 1899 को उनका बलिदान दिवस होता है.

कार्यक्रम का संचालन रामेश्वर लोधी ने किया। इस अवसर पर राज्य मंत्री खेमपाल, वन राज्य मंत्री कर्ण वोहरा, जिला अध्यक्ष भाजपा शमशेर पुंडीर, नगरपालिका अध्यक्ष सुमित्रा मनवाल, सभासद मनीष धीमान, सभासद सुनीता सैनी, शिवानी लोधी ,नगीना रानी, भाजपा मीडिया प्रभारी सम्पूर्ण सिंह रावत आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!