उत्तराखंडदेहरादूनधर्म कर्मराजनीति

यूकेडी ने दी डोईवाला सरकारी अस्पताल में तालाबंदी की चेतावनी

Listen to this article

अस्पताल का पीपीपी मोड़ खत्म करने को उक्रांद ने किया भाजपा-कांग्रेस का बुद्धि शुद्धि यज्ञ

डोईवाला। उत्तराखंड क्रांति दल ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोईवाला का अनुबंध निरस्त कराने की मांग को लेकर भाजपा और कांग्रेस का बुद्धि शुद्धि यज्ञ किया।

वहीं दूसरी ओर अस्पताल का अनुबंध निरस्त कराने को लेकर 22 वें दिन भी आंदोलन जारी रहा। उक्रांद के जिलाध्यक्ष संजय डोभाल के आमरण अनशन का पांचवा दिन था। पिछले 22 दिनों से आंदोलन कर रहे उत्तराखंड क्रांति दल के दर्जनों कार्यकर्ता तथा स्थानीय लोग सुबह से ही आंदोलन स्थल पर एकत्र हो गए थे,

इसके बाद बाकायदा हवन सामग्री के साथ भाजपा तथा कांग्रेस के तत्कालीन मुख्य मंत्रियों की फोटो रखकर बुद्धि शुद्धि यज्ञ किया गया। मंत्रोच्चारण के बीच आंदोलनकारी अस्पताल की बदहाली के लिए जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों की बुद्धि शुद्धि के लिए भी दुआएं मांगते रहे।

उत्तराखंड क्रांति दल के डोईवाला विधानसभा प्रभारी शिव प्रसाद सेमवाल ने कहा कि डोईवाला की जनता ने स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाए जाने की उम्मीद में प्रचंड बहुमत दिया था लेकिन कान्ग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उच्चीकरण के लिए स्वीकृत साढे आठ करोड़ रुपए सिर्फ इसलिए निरस्त कर दिए क्योंकि अस्पताल के उच्च करण के बाद निजी अस्पतालों में मरीजों की संख्या घट जाती। वहीं भाजपा सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इसका अनुबंध हिमालयन अस्पताल के साथ कर दिया।

इससे डोईवाला का यह अस्पताल मात्र रेफर सेंटर बन कर रह गया है। क्रांति दल के केंद्रीय सचिव केंद्रपाल सिंह तोपवाल ने चेतावनी दी कि यदि सरकार ने 24 घंटे के अंदर इसका संज्ञान नहीं लिया तो अस्पताल परिसर की तालाबंदी की जाएगी। बुद्धि शुद्धि यज्ञ मे जिला संगठन मंत्री दिनेश सेमवाल,नगर उपाध्यक्ष पेशकार गौतम, नागेंद्र पांडेय,सरिता देवी, तेलीवाला से रमजानी, सत्यम शिवम, अभय, नुन्नावाला से नरेन्द्र सिंह, फतेहपुर से जर्नल सिह, अमन सिंह, विपिन तोमर आदि शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!