उत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

लेखपाल संघ का (कल और परसों) दो दिन रहेगा कार्य बहिष्कार

Listen to this article

देहरादून। उत्तराखंड भूलेख संवर्गीय कर्मचारी महासंघ के आवाहन पर 22 व 23 मार्च को कार्य बहिष्कार व धरना-प्रदर्शन किया जाएगा।

इस संबंध में उत्तराखंड लेखपाल संघ ने जिलाधिकारी को दिए ज्ञापन में कहा है कि उत्तराखंड भूलेख संवर्गीय कर्मचारी संघ द्वारा मुख्यमंत्री को 22 फरवरी को दिए ज्ञापन और राजस्व परिषद द्वारा 9 फरवरी के दिय पत्र में गया था कि मुख्य प्रशासनिक अधिकारियों, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा तहसीलदार की अनुपस्थिति में तहसील कार्यालय से संबंधित (केवल नित्यप्रति के कार्यों को छोड़कर) कार्य संपादित किए जाते रहेंगे। इसके विरोध में लेखपाल संघ द्वारा चरणबद्ध आंदोलन का कार्यक्रम घोषित किया गया है।

ज्ञापन में उत्तराखंड लेखपाल संघ सचिव की ओर से इस संबंध में जिलाधिकारी को दिए ज्ञापन में कहा गया है कि दिनांक 22 मार्च और 23 मार्च को समस्त मुख्यालयों, तहसील मुख्यालयों में कार्य बहिष्कार कर धरना प्रदर्शन किए जाने का कार्यक्रम तय किया गया है। उत्तराखंड लेखपाल संघ द्वारा राजस्व परिषद अध्यक्ष उत्तराखंड को दिए गए 16 मार्च के पत्र में भी दिनांक 22 व 23 के प्रस्तावित आंदोलन के बारे में अवगत करवाया जा चुका है।

उत्तराखंड भूलेख संवर्गीय कर्मचारी महासंघ के घटक संघ होने व लेखपाल संघ के प्रांतीय नेतृत्व के निर्णयनुसार जनपद देहरादून की संस्था के सभी सदस्य, पूर्व प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार 22 व 23 मार्च को तहसील सदर देहरादून में इकट्ठा होकर कार्य बहिष्कार और धरना प्रदर्शन देंगे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!