उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनराजनीतिराज्यस्वास्थ्य और शिक्षा

आईटीआई छात्रों के लिए खुशखबरी- अब प्रदेश की चीनी मिलों में भी कर सकेंगे अप्रेंटिस

शासन की बैठक के बाद अधिकारियों ने किया अप्रेंटिस के लिए डोईवाला शुगर मिल का निरीक्षण

देहरादून। आईटीआई करने वाले छात्रों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है। आईटीआई के छात्र अब प्रदेश की चीनी मिलों में भी अप्रेंटिस कर सकेंगे।

इसके लिए गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग व कौशल विकास मंत्री सौरभ बहुगुणा की संबधित अधिकारियों के बाद बैठक के बाद अधिकारियों ने डोईवाला चीनी मिल का आज निरीक्षण किया।

निरीक्षण के बाद अधिकारियों ने पाया कि डोईवाला चीनी मिल आईटीआई छात्रों के अप्रेंटिस के लिए एकदम ठीक है। वर्तमान में चीनी मिलों में ऑफ सीजन चल रहा है। और चीनी मिलों में मेंटीनेंस आदि का कार्य भी चल रहा है।

 

इस लिहाज से आईटीआई में फीटर, टर्नर, इलेक्ट्रिशियन, मशीनिस्ट आदि के छात्रों के लिए सीखनों को काफी कुछ मिलेगा। गढवाल मंडल के ज्वाइंट डायरेक्टर अनिल सिंह गुसाई ने आज डोईवाला शुगर मिल का अप्रेंटिस के लिए निरीक्षण किया।

जिसमें उन्होंने डोईवाला चीनी मिल को अप्रेंटिस के लिए उपयुक्त पाया। उन्होंने कहा कि राज्य गठन के बाद से अब तक प्रदेश की चीनी मिलों में आईटीआई के छात्रों की अप्रेंटिस नहीं हुई है।

संबधित मंत्री व अधिकारियों के साथ हुई बैठक के बाद निर्णय लिया गया कि प्रदेश की चीनी मिलों में अप्रेंटिस शुरू की जाए। कहा कि एक वर्ष की अप्रेंटिस सरकार के पोर्टल के माध्यम से शुरू होती है।

चीनी मिल की विजिट के बाद रिपोर्ट गन्ना व कौशल विकास सचिव विजय कुमार को भेजी जाएगी। और शासन से हरी झंड़ी मिलते ही प्रदेश की चीनी मिलों में अप्रेंटिस शुरू की जाएगी।

डोईवाला चीनी मिल में निरीक्षण के दौरान डोईवाला गन्ना समिति अध्यक्ष मनोज नौटियाल, चीफ इंजीनियर, राकेश कुमार शर्मा, चीफ केमिस्ट प्रवीण पांडे, आईटीआई फोरमैन रविंद्र सोलंकी आदि उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें:  अंकिता, अग्निपथ और उत्तराखंड की अस्मिता पर केंद्रित हो चुका चुनाव : राजीव महर्षि

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!