उत्तराखंडदेहरादूनस्वास्थ्य और शिक्षा

कोरोना संक्रमितों के लिए दो आईसीयू की व्यवस्था हुई, अब 30 वेंटिलेटर रहेँगे उपलब्ध

Listen to this article

देहरादून। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में कोविड19 संक्रमित मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या के मद्देनजर कोविड वार्ड में बिस्तरों की संख्या बढ़ा दी गई है।

इसके साथ ही वार्ड में आईसीयू से जुड़ी सुविधाओं में भी इजाफा किया गया है। कोविड वार्ड में भर्ती गंभीर मरीजों के उपचार के लिए अब एक की जगह दो आईसीयू की व्यवस्था की गई हैं, जिनमें 30 वेंटिलेटर उपलब्ध रहेंगे।

एम्स अस्पताल प्रशासन के अनुसार कोविड वार्ड में वर्तमान में 30 कोविड पॉजिटिव मरीज भर्ती हैं, जिनका विशेषज्ञ चिकित्सकीय दल की निगरानी में उपचार चल रहा है। चूंकि राज्य में अभी भी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी दर्ज की जा रही है। लिहाजा एम्स अस्पताल प्रशासन ने मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए समुचित इलाज की तैयारियों के मद्देनजर कोविड वार्ड में जरुरी सुविधाओं में इजाफा किया है।

संस्थान के डीन हॉस्पिटल अफेयर्स प्रो. यूबी मिश्रा ने बताया कि एम्स अस्पताल में संचालित कोविड वार्ड में पहले कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए 100 बेड की व्यवस्था की गई थी। राज्य में संक्रमित मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या के चलते वार्ड में बेडों की संख्या बढ़ाकर अब 200 कर दी गई है। जिससे अस्पताल में कोविड संक्रमित मरीजों को भर्ती करने में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो। उन्होंने बताया कि इसके अलावा कोविड वार्ड में पहले गंभीर मरीजों के लिए एक आईसीयू की व्यवस्था थी, संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी के मद्देनजर वार्ड में अब एक और गहन चिकित्सा यूनिट स्थापित की गई है।
प्रो. मिश्रा के अनुसार नए आईसीयू में 15 अतिरिक्त वेंटिलेटर्स की व्यवस्था की गई है,जिससे जरुरत पड़ने पर गंभीर मरीजों को यह सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। वर्षाकाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ने का खतरा ज्यादा होता है, लिहाजा एम्स प्रशासन ने एहतियातन कोविड मरीजों की सुविधा के लिए अतिरिक्त व्यवस्थाएं जुटाई हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!