उत्तराखंडदेहरादूनराज्यस्वास्थ्य और शिक्षा

पहाड़ और मैदान के कैंसर रोगियों को ऋषिकेश में मिलेगा सस्ते ईलाज का लाभ, होली केयर अस्पताल का हुआ शुभारंभ

ऐंजलिक फाउंडेशन ने ऋषिकेश में खोला कैंसर रोगियों के लिए होली केयर अस्पताल

देहरादून। अब पहाड़ और मैदान के कैंसर रोगियों को ईलाज के लिए दूसरे राज्यों या मंहगे प्राईवेट अस्पतालों के चक्कर नही काटने पड़ेंगे। एंजलिक फाउंडेशन ने कैंसर रोगियों को सस्ते और बढिया ईलाज के लिए ऋ​षिकेश में अपना नया कैंसर अस्पताल होली केयर खोल दिया है।

ऐंजलिक फाउंडेशन के निदेशक देवी प्रसाद बछेती ने 80 शास्त्रीनगर काली की ढाल, ऋषिकेश में दस बेड के कैंसर अस्पताल का शुभारंभ करते हुए कहा कि अब तक उनके फाउंडेशन ने शिक्षा के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित किए हैं। अब शिक्षा के साथ ही स्वास्थ के क्षेत्र में मरीजों को सस्ते और बेहतर ईलाज के लिए कैंसर अस्पताल की नींव रखी गई है।

कैंसर विशेषज्ञ डॉ यामिनी बछेती ने कहा कि एम्स ऋषिकेश में कैंसर चिकित्सक के रूप में सेवाएं देने के बाद अब उन्होंने अपने खुद के अस्पताल में कैंसर मरीजों की सेवा का संकल्प लिया है। अस्पताल में कैंसर रोगियों के अलावा अन्य रोगियों का भी ईलाज किया जाएगा।

खासकर कैंसर रोगियों को उचित फीस और मूल्य पर ईलाज व दवाईयां उपलब्ध कराई जाएंगी। इस अवसर पर होली एंजल स्कूल प्रधानाचार्य डॉ आकाश बछेती, होली एंजल ग्रुप्स सचिव प्रभा बछेती, राजेश अग्रवाल, विनय आडवानी, सुनील गुप्ता, अनिल कुकरेती, संदीप गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

शुभारंभ के मौके पर ये भी रहे मौजूद

देहरादून। डॉ विपुल नौटियाल एचओडी कैंसर विभाग जौलीग्रांट, एडिशनल प्रोफेसर एम्स डॉ दीपा जोजफ, रेडियोलॉजिस्ट शिवालिक डायग्नोस्टिक सेंटर संचालक डॉ राजेंद्र गर्ग, नेत्र विशेषज्ञ राणा आई केयर डॉ राजन राणा, बाल रोग विशेषज्ञ ग्राफिक एरा डॉ संचिता, पुरूषोत्तम डायग्नोटिक सेंटर संचालक डॉ नवीन गोयल, हड्डी रोग विशेषज्ञ दून आर्थो क्लिनिक डॉ लोकेश डबराल आदि मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें:  राजीव महर्षि ने कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में की मार्मिक अपील

इन कैंसर रोगियों को मिलेगा लाभ

देहरादून। ऋषिकेश के होली केयर अस्पताल में गले का कैंसर, मुँह का कैंसर, स्तन कैंसर, फेफड़े का कैंसर, गर्भाशय के मुंह का कैंसर,गर्भाशय कर्क रोग, अंडाशयी कैंसर, आमाशय का कैंसर, आंत का कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, मूत्राशय का कैंसर, यकृत कैंसर, पित्ताशय का कैंसर, हड्डी का कैंसर, मलाशय का कैंसर, त्वचा कैंसर आदि का ईलाज किया जाएगा।

 

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!