अपराधउत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनधर्म कर्मराजनीतिराज्य

Big Breaking- जौलीग्रांट से जोशीमठ को रेस्क्यू टीमें रवाना

एसडीआरएफ मुख्यालय जौलीग्रांट में हाई अलर्ट

Listen to this article

देहरादून। जोशीमठ में हो रहे हैं भू धंसाव की वजह से घरों में दरारों के दृष्टिगत एसडीआरएफ

टीमो को अलर्ट मोड़ पर रखा गया है।

पुलिस महानिरीक्षक एसडीआरएफ रिद्धिम अग्रवाल के दिशा निर्देशन में एसडीआरएफ की

आठ टीमों को प्रथम चरण में जोशीमठ में तैनात कर दिया गया है। एसडीआरएफ की यह

टीमें अन्य इकाईयों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए जहां एक ओर भूधंसाव वाले क्षेत्रों का

स्थलीय निरीक्षण करेंगी। वहीं दूसरी ओर दिन व रात प्रभावित क्षेत्रों में कड़ी नजर रखते हुए

प्रभावित लोगों का मनोबल बढ़ाने को कार्य करेंगी।

सेनानायक एसडीआरएफ मणिकांत मिश्रा द्वारा स्वयं मौके पर पहुंचकर सम्पूर्ण स्थिति का

जायज़ा लिया गया है। व जोशीमठ में ही कैम्प कर ग्राउंड जीरो पर एसडीआरएफ की कमान

संभाली जा रही है। स्थिति की गम्भीरता को देखते हुए रेस्क्यू टीमों को प्रभावित क्षेत्र में दिन

के साथ साथ रात्रि में भी कड़ी निगरानी रखने हेतु निर्देशित किया गया है। रात्रि में भी टीमों

द्वारा प्रभावित क्षेत्रों में गश्त के माध्यम से निगरानी करते हुए स्थिति पर नजर रखी जा

रही है। और आकस्मिक स्थिति होने पर ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान पर पहुँचाने में

सहायता भी प्रदान की जा रही है। एसडीआरएफ वाहिनी मुख्यालय जॉलीग्रांट से

अतिरिक्त टीमें मय आवश्यक रेस्क्यू उपकरणों के जोशीमठ में प्रभावित क्षेत्र पहुंच गई है।

जिससे किसी भी आकस्मिक स्थिति में कम से कम समय में त्वरित राहत एवं बचाव कार्य किया जा सके।

इसके साथ ही आसपास की अन्य पोस्टों पर भी एसडीआरएफ के जवानों को अलर्ट पर

रहने के निर्देश दिए गए हैं , ताकि किसी भी अकस्मात स्थिति के उतपन्न होने पर सभी टीमें

कम से कम समय मे त्वरित राहत और बचाव कार्य कर सके।

वाहिनीं मुख्यालय, जॉलीग्रांट में भी समस्त फ़ोर्स को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

किसी भी प्रकार के बैक अप की आवश्यकता पड़ने पर टीमें त्वरित रिस्पांस हेतु पूर्णतः तैयारी

हालत में है। समस्त रेस्क्यू उपकरणों की भी क्रियाशीलता को जांचकर तैयारी हालत में रखा गया है।

एसडीआरएफ कंट्रोल रूम भी हाई अलर्ट पर है व समस्त स्टाफ को निर्देशित किया गया है कि

समस्त सूचनाओं का आदान प्रदान त्वरित हो। व प्रत्येक सूचना को गम्भीरता से लिया जाए।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!