उत्तराखंडदेशदेहरादूनराजनीति

प्रदर्शन के बाद किसानों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका

Listen to this article

डोईवाला। उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में उप मुख्यमंत्री का विरोध कर रहे किसानों को केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा द्वारा गाड़ी से रौंद कर मारे जाने के खिलाफ डोईवाला संयुक्त किसान मोर्चे ने राष्ट्रपति महोदय को ज्ञापन भेजकर भाजपा कार्यकर्ताओं व आशीष मिश्रा के खिलाफ कार्यवाही की मांग की।

डोईवाला गुरुद्वारा पर सूबह 10 बजे सैकडों किसान एकत्रित होकर जोरदार नारेबाजी करते हुए तहसील मुख्यालय पहुंचे जहां एक सभा में तब्दील हो गये। सभा को सम्बोधित करते हुए उत्तराखंड सँयुक्त किसान मोर्चे के संयोजक गंगाधर नौटियाल ने कहा कि सत्ता में चूर भाजपा सरकार किसानों के आंदोलन को कुचलने के लिये इतनी नीचता पर उतारू है कि अब किसानों पर सीधा हमला कर उन्हें मौत के घाट उतारा जा रहा है ।

कल इसी प्रकार शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन कर रहे किसानों पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा ने अपने साथियों के साथ मिलकर आंदोलित किसानों को गाड़ी से कुचल दिया जिसमें कई किसान शहीद हो गए तथा कई गम्भीर रूप से घायल हो गए ।उन्होंने कहा कि अब समय आ गया कि किसान एकजुट होकर ऐसी निकम्मी सरकार को सबक सिखाए ।

सभा को डोईवाला संयुक्त किसान मोर्चे के अध्यक्ष ताजेन्द्र सिंह ने भी किसानों के साथ हुए जुल्म की घोर निंदा करते हुए कहा कि भाजपा सरकार अपना आपा खो चुकी है जिससे वह किसानों के साथ पागलों जैसा व्यवहार कर रही है उन्होंने शहीद हुए किसानों को एक एक करोड़ रुपए मुआवजा व मृतक किसान के परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने की मांग करते हुए भाजपा के गुंडे आशीष मिश्रा के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही करने व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को बर्खास्त करने की मांग की ।

किसानों को सम्बोधित करते हुए किसान सभा के जिलाध्यक्ष दलजीत सिंह ने कहा कि भाजपा के लोग अब गुंडागर्दी पर उतारू है । लखीमपुर खीरी की ये घटना किसान आंदोलन को कुचलने की नापाक कोशिश है अब समय आ गया कि भाजपा के लोगों का गांव में भी पुरजोर विरोध किया जाए ।

किसानों को सम्बोधित करते हुए यूथ कोंग्रेस के नेता मोहित उनियाल व किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र खालसा ने कहा कि भाजपा के गुंडों द्वारा देश के सविधान व लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई जा रही है उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि जब तक सरकार शहीद किसानों के गुनहगार आशीष मिश्रा व उसके साथियों को गिरफ्तार कर कार्यवाही नहीं करती किसान इसी तरह आंदोलन करते रहेंगे ।

किसान नेता ज़ाहिद अंजुम व उमेद बोरा ,एवं हरेन्द्र बालियान ने कहा कि भाजपा के लोगो को कानून की कोई परवाह नही और जगह जगह गुण्डागर्दी पर उतारू हैं उन्होंने कहा कल रुड़की के एक चर्च पर कई भाजपा के गुंडों ने प्रार्थना कर रहे ईसाइयों पर हमला कर चर्च को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की ।

प्रदर्शन में शामिल किसानों ने चार मांगो का ज्ञापन उपजिलाधिकारी डोईवाला के माध्यम से माननीय महामहीम राष्ट्रपति भारत सरकार को प्रेषित करते हुए मांग की कि
1 , निहत्थे किसानों को कुचल कर मारने वाले आशीष मिश्रा के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही करते हुए उसके पिता केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त किया जाए ।
2, शहीद हुए किसानों को एक एक करोड़ रुपये मुआवजा दिया जाए ।
3, मृतक किसानों के परिवार के आश्रित को सरकारी नौकरी दी जाए ।
प्रदर्शन के अंत मे किसानों ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका ।

प्रदर्शनकारियों में मुख्य रूप से बलबीर सिंह, याक़ूब अली, अश्विनी त्यागी, सागर मनवाल, मनोज नौटियाल, हीरा सिंह बिष्ट, फुरकान अहमद कुरैशी, अखलाक साबरी,इंद्रजीत सिंह प्रधान,सुरेंद्र सिंह प्रधान, बुद्धि प्रसाद सेमवाल, गुरविंदर सिंह बॉबी, हरजिंदर सिंह, कमल अरोड़ा ,खालिद, बीरेंद्र पेंग्वाल,पूरण सिंह, गुरदीप सिंह, लखवीर सिंह, मनोहर सैनी,परमजीत सिंह, सुरेंदर राणा, इन्दर जीत सिंह, मलकीत सिंह, करनैल सिंह, करेशन सिंह , मोहन सिंह, आदि सैकडों किसान शामिल थे ।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!