उत्तराखंडदेशधर्म कर्मराज्य

योगबदरी मंदिर में- ‘भगवान उद्घव’, कुबेर’, ‘गाडू घड़ा पूजन’ व भोग अर्पित किया गया

गौचर / चमोली। श्री बदरीनाथ जी के गाडू घड़ा (तेल कलश) के पाण्डुकेश्वर पहुँचने पर ग्रामवासियों ने स्वागत किया।

बदरीनाथ मंदिर के हक़-हकुकदारी कमदी थोक के गोविंद पंवार ने बताया की इस वर्ष उन्होंने

अपने आवास पर गाडू घड़ा का स्वागत किया। प्रातः गाडू घड़ा पूजन के बाद भोग प्रसाद

अर्पित किया गया। श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के उपाध्यक्ष किशोर पंवार ने

बताया की5 पूर्वपरंपरानुसार आज श्री योगबदरी मंदिर में भगवान उद्घव जी, कुबेर जी

एवं गाडू घड़ा पूजन व भोग अर्पित किया गया। कहा की गाडू घड़ा बसंत पंचमी को टिहरी

राजदरबार में पहुँचेगा जिसके बाद बसंत पंचमी 26 जनवरी को भगवान श्री बदरीविशाल जी के

कपाट खुलने की तिथि घोषित होगी। इस अवसर पर ग्रामप्रधान बबीता पंवार, मेहता

थोक, भंडारी थोक क़मदी थोक अध्यक्ष मोजूद रहे।‌

मंदिर समिति मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि मंगलवार को तेलकलश गाडू घड़ा

डिम्मर स्थित लक्ष्मी नारायण मंदिर पहुंचा है। 25 जनवरी शाम को ऋषिकेश पहुंचेगा।

तथा 26 जनवरी प्रात: को गाडू घड़ा ऋषिकेश से नरेंद्र नगर राजदरबार पहुंचेगा।

डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत के अध्यक्ष विनोद डिमरी, मंदिर समिति सदस्य आशुतोष

डिमरी, प्रतिनिधि टीका प्रसाद डिमरी राजेंद्र प्रसाद डिमरी हेमचन्द्र डिमरी मनोज डिमरी, आदि उपस्थित रहे।

ललिता प्रसाद लखेड़ा

ये भी पढ़ें:  उत्तराखंड के छह जनपदों में होगा 10 टनल पार्किंग का निर्माण

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!