अपराधउत्तराखंडदेहरादूनराज्य

रानीपोखरी में सामूहिक हत्याकांड- एक व्यक्ति ने अपनी मां, पत्नी और तीन बेटियों का किया मर्डर

Listen to this article

देहरादून। रानीपोखरी में आज सुबह लगभग सात बजे हुए सामूहिक हत्याकांड से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई।

एक व्यक्ति ने अपने ही परिवार के कुल पांच लोगों की चाकू से गोदकर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को पकड़ लिया है। यह मामला रानीपोखरी के नागाघेर का है।

 

मकान के बाहर लगी लोगों की भीड़।

जहां एक व्यक्ति ने अपने परिवार में अपनी माता, पत्नी और तीन बेटियों समेत कुल पांच लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी।

सूचना पाकर थाना पुलिस और आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। फिलहाल पुलिस शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम की कार्रवाई में लगी हुई है।

 

मौके से पकड़ा गया आरोपी।

नागाघेर में आरोपी महेश कुमार (47) पुत्र दिनेश कुमार निवासी इलाहबाद रोड थाना अतरहा जिला बांदा यूपी हाल निवासी नागाघेर रानीपोखरी द्वारा अपने ही परिवार के कुल पांच लोगों की हत्या की गई है।

आसपास के लोगों ने कहा कि आरोपी घर पर ही पूजा-पाठ आदि में व्यस्त रहता था। और पड़ोसियों से ज्यादा मतलब नहीं रखता था।

चीख पुकार सुनकर दौड़े पड़ोसी

देहरादून। आज सुबह चीख पुकार सुनकर पास में ही रहने वाले भाजपा नेता सुबोध जायसवाल मौके पर पहुंचे तो घर में चीख पुकार मच रखी थी। जायसवाल ने तुरंत पुलिस को फोन किया। और पुलिस कुछ ही मिनटों में वहां पहुंच गई। लेकिन तब तक आरोपी अपनी परिवार के पांचों लोगों की हत्या कर चुका था।

 

मकान के अंदर बिखरे शव।

विक्षिप्त मां और दिव्यांग बेटी को भी नहीं छोड़ा

देहरादून। आरोपी ने अपनी विक्षिप्त मां और दिव्यांग बेटी को भी नहीं बक्सा और बड़ी ही बेरहमी से उनकी भी हत्या कर दी। आरोपी की एक और बेटी भी है। जो ऋषिकेश में किसी रिश्तेदार के यहां पढती है।

और वो इसी कारण से घर पर नहीं थी। जिस कारण उसकी जान बच गई। मौके पर थानाध्यक्ष रानीपोखरी, एसएसपी दलीप सिंह कुंवर सहित भारी पुलिस बल मौजूद था।

 

आरोपी की मृतक बेटी अपर्णा।

 

मानसिक हालत नहीं थी ठीक, हत्या से पहले पत्नी से हुआ था विवाद

देहरादून। पुलिस के अनुसार आरोपी की मानिसक हालत ठीक नहीं थी। सुबह नाश्ता बनाते हुए आरोपी की उसकी पत्नी के साथ कहासुनी हुई थी। जिसके बाद उसने सब्जी काटने वाले चाकू से पहले अपनी पत्नी का गला रेता।

 

आरोपी की बेटी अन्नपूर्णा उर्फ बिट्टो।

फिर उसके अपनी बेटी अन्नपूर्णा का गला रेता और उसके बाद दो बेटियों और मां को भी मार ड़ाला। एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आरोपी कोई काम धंधा नहीं करता था। और उसका अधिकांश समय पूजा-पाठ में ही बीतता था।

वो अपने परिवार के साथ नागाघेर में अपने भाई उमेश के मकान में 2015 में रह रहा था। और उसके भाई ही 15 से 20 हजार रूपए महीना उसे खर्चे के लिए देते थे। जिससे उसका घर चलता था।

मृतकों का विवरण

बीतन देवी (75) मां

नीतू देवी (36) पत्नी

अपर्णा (13) पुत्री

अन्नपूर्णा (9) पुत्री

स्वर्णा उर्फ गुल्लो (11) पुत्री

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!