उत्तराखंडदेहरादूनस्वास्थ्य और शिक्षा

नई शिक्षा नीति विद्यार्थियों के भविष्य को बनाएगी बेहतर

Listen to this article

डोईवाला। कोरोना काल में संकुल केंद्र बंजारावाला की गतिविधियों, राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 और शिक्षक दिवस की तैयारियों को लेकर आज गूगल मीट पर ऑनलाइन बैठक आयोजित की गई।

संकुल बंजारावाला के 8 प्राथमिक तथा 4 पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों ने प्रतिभाग किया। बैठक में प्रभारी संकुल समन्वयक उर्मिला बिजल्वाण द्वारा सभी प्रधानाध्यापकों का स्वागत करते हुए कहा गया कि बैठक में विभिन्न शैक्षिक गतिविधियों पर चर्चा की जा रही है।

ऑनलाइन शिक्षण की प्रगति पर चर्चा कर प्रत्येक विद्यालय से उनके विद्यालय में चल रही ऑनलाइन शिक्षण की जानकारी प्राप्त की गई। विभाग द्वारा जारी सूची के आधार पर निरक्षर व्यक्तियों को उनके निवास क्षेत्र के आसपास ही साक्षर करने की योजना तैयार की गयी।

राजकीय प्राथमिक विद्यालय रामगढ़ के प्रधानाध्यापक अरविन्द सोलंकी ने कहा कि नई शिक्षा नीति में शिक्षक को खुद में सुधार करने और पेशे से सम्बंधित आधुनिक विचार और नवाचार सीखने के लिये सतत अवसर प्रदान किये जाएंगे। प्रत्येक शिक्षक व्यावसायिक विकास के लिये प्रत्येक वर्ष लगभग 50 घण्टों के सतत व्यावसायिक विकास (सीपीडी) कार्यक्रम में हिस्सा लेगा। 5+3+3+4 वर्षीय प्रणाली बहुत ही सराहनीय कदम है।

जिससे 3 वर्ष की आयु से ही बच्चे विद्यालय में आकर सीखने लगेंगे। ऑन लाइन बैठक में समन्वयक उर्मिला बिजल्वाण, कुसुम शर्मा, सुनीता रतूड़ी, प्रमोद तोमर, संतोष रावत, गीता भारद्वाज, रेखा उनियाल, अरविन्द सोलंकी, शांति लिंगवाल, रत्नेश्वरी शाह शामिल हुए।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!