अपराधउत्तराखंडदेहरादूनराजनीतिराज्य

पिंकी हत्याकांड को लेकर फूटा जनाक्रोश, निकाली रैली

देवाल / गौचर 28 अक्टूबर। देवाल ब्लॉक के खेता मानमती के पिंकी हत्याकांड के एक वर्ष बाद भी हत्यारोपी की गिरफ्तारी नहीं होने एवं थराली ब्लॉक के रणगांव निवासी बीरेंद्र राम की संदिग्धावस्था में मौत का लम्बे समय बाद भी खुलासा नहीं होने पर क्षेत्रीय लोगों ने जनाक्रोश रैली निकाल कर अपने गुस्से का इजहार किया।

पूर्व प्रस्तावित कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को थराली देवाल तिराहे से तहसील तक जनाक्रोश रैली निकाली गई। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने शासन प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

तहसील कार्यालय के बाहर देवाल मोटर मार्ग पर गुस्साऐ प्रर्दशनकारियों ने सरकार का पुतला भी फूका।

इसके बाद आन्दोलनकारी जोरदार नारेबाजी करते हुये तहसील कार्यालय में पहुंचे वहां धरना देते हुये आन्दोलनकारीओं ने बीरेंद्र राम की संदिग्धावस्था में मौत से पर्दा नहीं उठना एवं पिंकी के नामजद आरोपी की एक वर्ष बाद भी गिरफ्तारी नहीं होना, शासन प्रशासन की नाकामी को प्रदर्शित कर रहा है।

 

आन्दोलनकारीओं ने एसडीएम थराली के माध्यम से राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन भेजा है। जिसमें मामलों का तत्काल खुलासा एवं गिरफ्तारियां नहीं होने पर आन्दोलन को उग्र रूप दिये जाने की चेतावनी दी है।

 

इस मौके पर भारत के संवैधानिक मंच के राष्ट्रीय संयोजक दौलत कुंवर सिंह, समृद्ध भारत के उत्तराखंड अध्यक्ष हरिराम टम्टा, वरिष्ठ नेता खेमराज कोठियाल, कामरेड देवराम बर्मा, पूर्णा प्रधान मनोज कुमार, मानमती प्रधान दिवान राम, छात्र नेता मनोज कोठियाल आदि ने विचार व्यक्त किये।

कांग्रेस नेता महेश शंकर त्रिकोठी, संजीव बुटोला, सहित अन्य लोगों ने इस आन्दोलन को अपना समर्थन दिया।

कर्णप्रयाग के सीओ अमित कुमार ने कहा कि दोनों ही मामलों पर पुलिस पूरी तरह से कार्य करने में जुटी है।

पिंकी हत्याकांड के संबंध में आरोपी की गिरफ्तारी के लिऐ हरसंभव प्रयास किया जा रहा है।

जबकि बीरेंद्र राम की संदिग्धावस्था में मौत के मामले में जांच की जा रही है।

 

ये भी पढ़ें:  सूबे में मातृ मुत्यु दर कम करने को बने रोड़मैपः डॉ धन सिंह रावत

उधर ब्लॉक मुख्यालय देवाल में पिंकी हत्याकांड के आरोपी को गिरफ्तार किये जाने की मांग को लेकर 16 वें दिन भी धरना जारी रहा।

ललिता प्रसाद लखेड़ा की रिपोर्ट

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!