उत्तराखंडदेशधर्म कर्मपर्यटन

(वीडियो) केदारनाथ-गौरीकुण्ड के बीच नदी मे फंसे श्रद्धालुओ को रेस्क्यू कर बाहर निकाला

Listen to this article

केदारनाथ। दिनांक 15 अक्टूबर को देर शाम, चौकी लिन्चोली से SDRF टीम को सूचना मिली कि गरुड़ चट्टी के पास किसी व्यक्ति का पैर फैक्चर हो गया है व SDRF टीम की आवश्यकता है।

उक्त सूचना पर SDRF पोस्ट लिन्चोली से हेड कांस्टेबल प्रेम प्रकाश के हमराह टीम तत्काल घटनास्थल हेतु रवाना हुई।

SDRF रेस्क्यू टीम द्वारा गरुड़ चट्टी पुल से लेकर भैरव ग्लेशियर तक नदी में सर्चिंग की गई, परन्तु दौराने सर्चिंग कोई नही मिला। उक्त सूचना गरुड़ चट्टी पुल की ना होकर छोटी लिन्चोली से नीचे नदी की थी। रेस्क्यू टीम द्वारा सही सूचना प्राप्त होते ही बिना समय गवाये तत्काल छोटी लिन्चोली से नीचे नदी मे सर्चिंग की गई। सर्चिंग के दौरान दो व्यक्ति नदी के दूसरी तरफ फंसे हुए पाए गए।

रेस्क्यू टीम द्वारा दोनो व्यक्तियों को रोप के माध्यम से सकुशल रेस्क्यू किया गया।दोनों व्यक्तियों, 1-रामदास पठारे पुत्र श्री दत्तू निवासी तल्ले गांव ,दाभाड़े, पुने महाराष्ट व 2- यशवंत डभारे पुत्र श्री पाण्डुरंग निवासी गांव दाभाड़े,पुने महाराष्ट, द्वारा बताया गया कि वो पुणे,महाराष्ट्र से उत्तराखण्ड में केदारनाथ यात्रा केलिए आये थे। केदारनाथ मंदिर से गौरीकुण्ड की ओर वापस आते समय अपने मुख्य मार्ग को छोड़कर नदी किनारे चलते हुए जल्दी नीचे पहुचने के प्रयास में रास्ता भटक गए और नदी की दुसरी ओर जा फंसे।

SDRF रेस्क्यू टीम द्वारा रोप के माध्यम से दोनो व्यक्तियों को सकुशल बाहर निकाला गया। दोनो व्यक्तियों द्वारा क्विक रिस्पांस और कुशल रेस्क्यू केलिए SDRF उत्तराखण्ड पुलिस का आभार व्यक्त किया गया,जिन्होंने समय रहते उनकी जान बचाई।

न नदी की तेज धार न रात्रि के घनघोर अंधेरे से विचलित होकर केवल मानव जीवन की रक्षा को अपना परम् कर्तव्य मानती हुई,सदैव तत्पर SDRF रेस्क्यू टीम द्वारा अपने साहस और बल से दोनो व्यक्तियों को सकुशल बाहर निकाला जिसमे मुख्य आरक्षी प्रेम प्रकाश के हमराह आरक्षी नवीन कुमार, आरक्षी रमेश रावत, आरक्षी भूपेंद्र सिंह व आरक्षी प्रीतम शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!