उत्तराखंडदेशदेहरादूनपर्यटनविदेशस्वास्थ्य और शिक्षा

जौलीग्रांट से यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी, माउंट एलब्रुस को फतह करने रवाना हुआ एसडीआरएफ जवान

खबर को सुने

एसडीआरएफ सेनानायक ने पुलिस प्रतीक चिन्ह देकर किया रवाना

डोईवाला। एसडीआरएफ मुख्यालय जॉलीग्रांट से आरक्षी राजेन्द्रनाथ यूरोप महाद्वीप स्थित सबसे ऊंची चोटी, माउंट एलब्रुस को फतह करने के लिए रवाना हुए हैं।

एसडीआरएफ सेनानायक नवनीत सिंह द्वारा पुलिस प्रतीक चिन्ह देकर राजेंद्रनाथ रवाना किया गया। 360 माउंट एक्सप्लोरर मुम्बई द्वारा 09 अगस्त से 17 अगस्त 2021 तक यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस (5642 मीटर) पर एक्सपीडिशन का आयोजन किया गया है। जिसका उद्देश्य भारतीय स्वतंत्रता दिवस(15 अगस्त 2021) को माउंट एलब्रुस पर भारतीय ध्वज फहराना है।

08 अगस्त को दिल्ली में एक्सपीडिशन टीम की फ्लैग ऑफ सेरेमनी की जाएगी, जिसके पश्चात ये हवाई मार्ग से यूरोप के लिए रवाना होंगे। उच्च ऊँचाई पर असहनीय ठंड, ऑक्सीजन की कमी, हिमस्खलन का खतरा जैसी कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। जिससे पार पाने के लिये शारिरिक और मानसिक दृढ़ता जरूरी है।

राजेन्द्रनाथ द्वारा पूर्व में भी सतोपंथ, चंद्रभागा-13(6264 मीटर) एवं डीकेडी-2 (5670 मीटर) का भी सफलतापूर्वक आरोहण किया गया था। मौके पर सेनानायक नवनीत सिंह, उपसेनानायक अजय भट्ट, सहायक सेनानायक कमल सिंह पंवार,  अनिल शर्मा, शिविरपाल, राजीव रावत, निरीक्षक प्रमोद रावत, ललिता नेगी, हरक सिंह राणा, प्रेम सिंह नेगी, सूबेदार मेजर जयपाल सिंह राणा, उप-निरीक्षक पूनम शाह, विजय रयाल, सहायक उप-निरीक्षक  आलोक चंद आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!