अपराधउत्तराखंडदेशदेहरादूनधर्म कर्मपर्यटनराज्य

घुप अंधेरे के बीच ढाई सौ मीटर गहरी खाई में उतरे एसडीआरएफ जवान- धुमाकोट में अभी भी रेस्क्यू जारी    

पौड़ी। सिमड़ी गांव में बरातियों से भरी बस में सवार घायलों को निकालने का सिलसिला जारी है। रौपवे की मदद से एसडीआरएफ राहत और बचाव में जुटी हुई है।

दिनाँक 04 अक्टूबर 2022 को सांय लगभग 0800 बजे SDRF को धुमाकोट क्षेत्रान्तर्गत वीरोंखाल के पास सिमड़ी गांव में एक बारात की बस खाई में गिरने की सूचना प्राप्त हुई।

घटना की संवेदनशीलता के दृष्टिगत मणिकांत मिश्रा, सेनानायक SDRF द्वारा श्रीनगर, कोटद्वार, खैरना, सतपुली व रुद्रपुर से SDRF की रेस्क्यू टीमों को तत्काल घटनास्थल पर पहुँचकर रेस्क्यू कार्य किये जाने हेतु निर्देशित किया गया था। उक्त सूचना पर SDRF रेस्क्यू टीमें मय रेस्क्यू उपकरणों के त्वरित रेस्क्यू हेतु घटनास्थल के लिए रवाना हुई।

बस में सवार थे लगभग पचास लोग 

उक्त बस में सवार यात्री बारात में गए थे जोकि लालढांग हरिद्वार से काड़ागांव वापिस आ रहे थे, जिसमें लगभग 45-50 लोग सवार थे। वीरोंखाल से आगे सिमड़ी गांव के पास मोड़ काटते समय बस अचानक अनियंत्रित होकर 200 से 250 मीटर गहरी खाई में दुर्घटनाग्रस्त हो गयी।

घटनास्थल पर स्थानीय पुलिस बल पूर्व से उपस्थित था। जिनके द्वारा 09 लोगों को निकाल लिया गया था, जिसमे से 06 घायलों को बीरोंखाल अस्पताल में भर्ती कराया गया व 01 गंभीर घायल को कोटद्वार हेतु रेफर किया गया है, अन्य 02 व्यक्तियों की स्थिति सामान्य है।

SDRF रेस्क्यू टीमों द्वारा रात्रि के घनघोर अंधेरे व अत्यधिक विषम परिस्थितियों में लगभग 250 मीटर गहरी खाई में रोप बांधकर उतरा गया जहाँ से स्ट्रैचर द्वारा एक एक कर के घायलों को निकाला जा रहा है।
अभी

ये भी पढ़ें:  सीएम धामी ने किए बाबा केदारनाथ के दर्शन, धाम में पुनर्निर्माण कार्यों की प्रगति की ली जानकारी

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!