उत्तराखंड

विधि-विधान से खुले द्वितीय केदार मदमहेश्वर के कपाट

रुद्रप्रयाग : पंचकेदारों में प्रतिष्ठित द्वितीय केदार भगवान मदमहेश्वर के कपाट आज पूर्वाह्न 11 बजकर 15 मिनट पर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ विधि-विधान से खोल दिए गए हैं। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे। बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के प्रवक्ता डाॅ. हरीश गौड़ ने अवगत कराया है कि श्री मदमहेश्वर भगवान की देवडोली के पहुंचने के पश्चात् आज प्रातः 10 बजे से कपाट खुलने की प्रक्रिया प्रारंभ हुई।

उन्होंने बताया कि पूर्वाह्न 11ः15 बजे पुजारी टी गंगाधर लिंग ने पूजा-अर्चना के बाद बीकेटीसी के अधिकारियों, हक-हकूक धारियों की उपस्थिति में विधि-विधान से श्री मदमहेश्वर मंदिर के कपाट खोल दिए गए। इसके बाद भगवान मदमहेश्वर जी के स्वयंभू शिवलिंग को समाधि रूप अलग कर निर्वाण रूप तथा उसके उपरांत श्रृंगार रूप दिया गया। तत्पश्चात् यहां मौजूद श्रद्धालुओं ने भगवान के दर्शन किए। इस दौरान करीब साढ़े तीन सौ से अधिक श्रद्धालु मौजद रहे।

ये भी पढ़ें:  महाराज ने किये ओल्ड लिपुलेख पास से कैलाश के दर्शन, पहली बार प्रदेश सरकार का कोई मंत्री पहुंचा 18000 फीट की ऊंचाई पर

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!