जॉलीग्रांट में 50 वर्षो से भी अधिक का रामलीला का गौरवमयी इतिहास, इस बार सात नवंबर से रामलीला शुरू

0
172

डोईवाला। आर्य समाज मंदिर जौलीग्रांट में रामलीला समिति की एक बैठक का आयोजन किया गया।

जिसमें आगामी 7 नवंबर से रामलीला का मंचन करने पर विचार विमर्श किया गया।। बैठक में तय किया गया कि आगामी 7 नवंबर से बिचली जॉलीग्रांट में रामलीला का मंचन किया जाएगा। जॉलीग्रांट में पिछले 50 वर्षों से भी अधिक समय से रामलीला का मंचन किया जा रहा है। और आज भी युवा पीढी इस परंपरा को बखूबी निभा रही है।

बदलते परिवेश में जहां लोगों में रामलीलाओं का मंचन देखने का क्रेज कम हो रहा है वहीं जॉलीग्रांट की रामलीला देखने आज भी दर्शकों की भीड़ खिंची चली आती है। करीब 50 वर्ष पुरानी इस रामलीला की खासियत यह है कि ज्यादातर सभी कलाकार करीब पंद्रह-बीस वर्षों से इस रामलीला कमेटी से जुड़े हैं।

इस रामलीला कमेटी में श्रीराम चंद्र, लक्ष्मण, सीता, हनुमान जी, दशरथ, जनक, रावण, सरुपनखा जैसे मुख्य कलाकार करीब पंद्रह-बीस वर्षों से जुड़े हुए हैं। रामलीला कमेटी की इस बार भी हर बार की तरह कुछ नया दिखाने की कोशिश रहेगी। रामलीला कमेटी इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। फिलहाल आज तैयारियों के संबंध में कमेटी की पहली बैठक हुई है।

जिसमें तय हुआ कि इस वर्ष भी रामलीला का मंचन किया जाएगा। बैठक में जॉलीग्रांट रामलीला समिति के अध्यक्ष हरिश्चंद्र कोहली, उपाध्यक्ष दीपक सिंह, मंत्री संजय प्रकाश, कोषाध्यक्ष संदीप प्रसाद, उप मंत्री प्रदीप सिंह, संदीप कोहली, मास्टर राजेश कुमार, लेखाधिकारी अशोक धीमान, सुरेश चंद्र, वेद प्रकाश, बाबूलाल भारती, मुन्ना भूषण असवाल, अर्जुन चौहान, रवि, अनुज, दीपक बेलवाल, नरेश भारती, राहुल आदि उपस्थित रहे।