उत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

डोईवाला में 2022 के चुनावी संग्राम की तैयारियां शुरू

Listen to this article

आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर चुनावी चर्चाओं का दौर शुरू

डोईवाला। प्रदेश की सबसे हॉट सीट माने जाने वाली डोईवाला विधानसभा सीट पर 2022 के चुनावी संग्राम की तैयारियां दोनों बड़े दलों की तरफ से शुरू की जा चुकी हैं।

डोईवाला में भाजपा और कांग्रेस ही एक बार फिर आमने-सामने दिखाई दे हैं। डोईवाला विस सीट से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत विधायक हैं। 2017 में उन्होंने लगभग 25 हजार वोटों से इस सीट पर शानदार जीत दर्ज की थी। जिसके बाद वो प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। वर्तमान में भी डोईवाला का जिस तरह का सियासी माहौल है।

उससे ऐसा लगता है कि 2022 में मुख्यमंत्री रावत एक बार फिर इस सीट से चुनावी मैदान में उतर सकते हैं। इस समय भाजपा ने डोईवाला में पूरा दम लगा रखा है। कई भाजपाईयों को सरकार में जिम्मेदारी देने का कार्य भी किया जा रहा है। फिलहाल दूर-दूर तक कोई ण्दूसरा चेहरा भाजपा की तरफ से डोईवाला में नहीं दिखाई दे रहा है।

मतलब मुख्यमंत्री के डोईवाला से बजाय किसी दूसरी सीट से चुनाव लड़ने की जो खबरें और चुनावी चर्चाएं चल रही हैं। वो सब डोईवाला की स्थिति को देखते हुए खोखली दिखाई दे रही हैं। यदि कांग्रेस की बात करें तो कांग्रेस की तरफ से डोईवाला के पूर्व विधायक हीरा सिंह बिष्ट अभी भी डोईवाला से चुनाव लड़ने के इच्छुक बताए जा रहे हैं। जबकि पूर्व काबीना मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण डोईवाला और ऋषिकेश दोनों जगहों पर सक्रिय हैं।

डोईवाला में कांग्रेस की तरफ से कई स्थानीय युवा चेहरे भी अपनी तैयारियों में जुटे हुए हैं। लेकिन कांग्रेस हाईकमान किसे मैदान में उतारेगी। ये समय ही बताएगा। किसी तीसरे दल या निर्दलीय की तैयारियां फिलहाल डोईवाला में लगभग नहीं के बराबर दिखाई दे रही हैं।

राज्य गठन से लेकर वर्तमान तक डोईवाला सीट की स्थिति

डोईवाला। राज्य गठन से लेकर वर्तमान तक डोईवाला विधानसभा सीट पर ज्यादातर भाजपा का ही कब्जा रहा है। कांग्रेस ने सिर्फ एक बार 2014 के उपचुनाव में इस सीट पर जीत दर्ज की थी। इस सीट पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत तीन बार पूर्व सीएम और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक एक बार और कांग्रेस से हीरा सिंह बिष्ट एक बार चुनाव जीत चुके हैं।

2002: त्रिवेंद्र सिंह रावत (1536 वोट से जीते)

2007: त्रिवेंद्र सिंह रावत (14127 वोट से जीते)

2012: डां0 रमेश पोखरियाल निशंक (1272 वोट से जीते)

2014 उपचुनाव: हीरा सिंह बिष्ट (3000 वोट से जीते)

2017 त्रिवेंद्र सिंह रावत (24869 वोट से जीते)

 

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!