उत्तराखंड

दूनवासियों को सीएम धामी ने सिटी फॉरेस्ट पार्क सहित तमाम योजनाओं की दी सौगात, 215 करोड़ से अधिक की विकास परियोजनाओं का किया शिलान्यास एवं लोकार्पण

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दूनवासियों को तरला नागल में बने सिटी फॉरेस्ट पार्क सहित कुल 11 योजनाओं की सौगात दी। 215 करोड़ की इन विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत देहरादून एवं मसूरी में पार्क, बस अड्डे सहित विभिन्न सौन्दर्यकरण कार्य किये जाने हैं।

इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सभी योजनाएं देहरादून और मसूरी के विकास में मील का पत्थर साबित होंगी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार संपूर्ण उत्तराखंड के विकास के लिए जनकल्याणकारी योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण कर रही है। उन्होंने कहा कि यह मैं, ऐसे ही नहीं कह रहा, मेरे द्वारा विगत दो माह में टनकपुर में 2215 करोड़ की योजनाओं का भूमि पूजन किया गया। हरिद्वार में एनएचएआई की 4700 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया। हरिद्वार में मातृशक्ति कार्यक्रम के तहत 1168 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया। चंपावत में 161 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया। अल्मोड़ा में 117 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया। पौड़ी गढ़वाल में 828 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया। रुद्रप्रयाग में 456 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत दो माह में करोड़ों रुपए की विकास योजनाओं का लोकार्पण करना यह दर्शाता है कि हम किस स्पीड और किस स्केल के साथ कार्यों को पूरा कर रहे हैं, जबकि पिछली सरकारें परियोजनाओं की नींव रखती थीं और चुनाव के बाद उन्हें पूरा करना भूल जाती थीं, लेकिन हमारी सरकार जिन योजनाओं का शिलान्यास करती है उनका लोकार्पण भी करती है।क्योंकि हमारी सरकार हर क्षेत्र के संतुलित विकास पर ध्यान केंद्रित कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारा जोर संतुष्टिकरण पर है, तुष्टिकरण पर नहीं है। आज आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में डबल इंजन की भाजपा सरकार न तो जाति का सहारा लेती है और न ही झूठे वादे करती है। हम जो कहते हैं, उसे हर हाल में पूरा करके दिखाते हैं और आगे भी जो कहेंगे, उसे पूरा करके दिखाएंगे।

ये भी पढ़ें:  उत्तराखंड के नाम एक और कीर्तिमान, एसडीजी 2023-24 में उत्तराखंड देश में प्रथम, नीति आयोग ने जारी की रिपोर्ट, सीएम धामी ने प्रदेशवासियों को दी बधाई

मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से विकास करते हुए हर क्षेत्र में आगे बढ़ा है। सुरक्षा, आर्थिक समृद्धि, आस्था के सम्मान, आजीविका, हरेक क्षेत्र में दुनिया नए भारत का दर्शन कर रही है, भारत की ताकत को प्रतिष्ठित कर रही है। देश के विकास की ही तरह उत्तराखंड का तीव्र विकास हुआ है लोगों की उत्तराखण्ड के प्रति धारणा बदल चुकी है। आज देवभूमि में इतने विकास कार्य इसलिए हो पा रहे हैं क्योंकि हमारे यहां डबल इंजन की सरकार है। डबल इंजन की सरकार डबल स्पीड में काम करती है और इस कारण देवभूमि में लगातार विकास के कार्य पूर्ण हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि देवभूमि में विकास के कार्य होने के साथ ही नौजवानों के लिए रोजगार के अवसर और तेजी से बढ़ें हैं, नागरिक सुविधाओं का विस्तार हुआ है, गरीबों को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है, किसानों का सम्मान बढ़ रहा है। जबकि पूर्व की सरकारों में विकास के इंजन को जंक लग चुका था, युवा हताश थे, नागरिक सुविधाओं का अभाव था, गरीबों को योजनाओं का लाभ नही मिल पाता था, किसानों के सम्मान की बजाए उनका अपमान किया जाता था। आज इसी का नतीजा ऐसी पार्टियों की सरकारें न घर की रहीं न घाट की।क्योंकि उन्होंने सिर्फ अपने परिवार चिंता की। ऐसी सरकारों ने सबके जीवन के साथ खिलवाड़ किया। नौजवानों, किसान, व्यापारी, बेटी सबके हितों पर कुठाराघात किया और देश की सुरक्षा को खतरे में डाला। जबकि पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में आज क्या नहीं है देवभूमि में। यहां सब की पसंद की चौड़ी सड़के हैं, ऋषिकेश के साथ ही उधमसिंह नगर में एम्स का सेटेलाइट सेंटर बन रहा है, दिल्ली देहरादून एलिवेटेड एक्सप्रेस वे बनने जा रहा है, ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल लाइन पर तेजी से कार्य चल रहा है, हवाई सेवाओं का विस्तार हो रहा है, स्वास्थ्य सेवाएं पहले से बेहतर हुई हैं।

ये भी पढ़ें:  उत्तराखंड : मंगलौर और बद्रीनाथ विधानसभा उप चुनाव में कांग्रेस की जीत, भाजपा उम्मीदों को झटका, दोनों दलों के अध्यक्ष के बयान आए सामने

मुख्यमंत्री ने कहा कि नकल विरोधी कानून के तहत नकल कराने वालों पर कार्यवही हो रही है, महिलाओं को समान अधिकार देने के लिए हमने समान नागरिक संहिता लागू किया है, लैंड जिहाद के खिलाफ युद्ध स्तर पर कार्यवाही हो रही है और अब दंगारोधी कानून से हम दंगे के दौरान होने वाले नुकसान की भरपाई भी दंगाइयों से ही करने की तैयार कर रहे हैं। लेकिन, हमने हर असंभव कार्य को आदरणीय प्रधानमंत्री के आशीर्वाद से सँभव करके दिखाया है ओर आगे भी करते रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने केदारनाथ की पवित्र भूमि से “21वीं सदी के तीसरे दशक को उत्तराखंड का दशक” यूं ही नहीं बताया था। आदरणीय प्रधानमंत्री ने “21वीं सदी के तीसरे दशक को उत्तराखंड का दशक” इसलिए बताया था, क्योंकि ये दशक देवभूमि के चहुंमुखी विकास का दशक है। क्योंकि ये दशक उत्तराखंड की महिलाओं को समान अधिकार देने का दशक है। क्योंकि ये दशक केदारखण्ड के साथ ही मानसखण्ड मंदिर माला के तहत मंदिरों के सौंदर्यीकरण करने का दशक है। क्योंकि ये दशक उत्तराखंड को आत्मनिर्भर बनाने का दशक है। क्योंकि ये दशक एक सक्षम, समर्थ और विकसित उत्तराखंड बनाने की नींव को मजबूत करने वाला दशक है। क्योंकि ये दशक उन आकाँक्षाओं को पूरा करने का दशक है, जो कभी हमें असंभव लगती थी।

उन्होंने कहा कि मैं, पूर्ण विश्वास के साथ कह सकता हूँ कि हम इस दशक को आदरणीय प्रधानमंत्री के नेतृत्व वाली तीसरे टर्म की सरकार में उनकी आकांक्षाओं और उम्मीदों का दशक बनाएंगे। आज जो सपने भारत देख रहा है, उन्हें पूर्ण करने का सामर्थ्य भी भारत का ही है और इसी सामर्थ्य के साथ हम उत्तराखंड को भी अपने विकल्प रहित संकल्प के मंत्र के साथ देश का श्रेष्ठ राज्य बनाएंगे और इस संकल्प को सिद्धि तक पहुंचाने के लिये मुझे और मेरी सरकार को आप सभी का सहयोग और समर्थन चाहिए।

ये भी पढ़ें:  सीएम धामी ने 15 अक्टूबर तक सैन्यधाम का निर्माण पूर्ण करने के दिए निर्देश, शहीदों के आश्रितों को दी जाने वाली आर्थिक सहायता बढ़ाये जाने के भी निर्देश, जम्मू कश्मीर में शहीद हुए जवानों के आश्रितों को शीघ्र दी जाएगी नौकरी

इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा कि युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में राज्य सरकार विकास के नित नए आयाम रच रही है। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री  गणेश जोशी, विधायक रायपुर उमेश शर्मा काऊ, प्राधिकरण उपाध्यक्ष बंशीधर तिवारी, डॉ आरके जैन आदि उपस्थित रहे।

इन योजनाओं का हुआ लोकार्पण एवं शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने शनिवार को मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण द्वारा 36 करोड़ की लागत से निर्मित सिटी फारेस्ट पार्क का लोकार्पण करने के साथ ही हर्बटपुर में निर्मित नवीन बस अड्डे का भी लोकार्पण किया।

प्राधिकरण उपाध्यक्ष बंशीधर तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि तरला नागल में 36.97 करोड़ की लागत से सिटी फॉरेस्ट पार्क बनकर तैयार हो गया है। हेलीपैड के ठीक सामने बनकर तैयार इस पार्क को बड़े क्षेत्रफल में तैयार किया गया है जो आने वाले दिनों में सैलानियों के आकर्षण का केंद्र बनेगा। यहां पर चलने के लिए ट्रैक के साथ ही लैंडस्केप के कार्यों के साथ ही बच्चों के खेलकूद के इंतजाम के साथ ही जिम, बैडमिंटन कोर्ट, गजीबो आदि के निर्माण किये जा रहे हैं। इसके अलावा हर्बटपुर में 3.20 करोड़ की लागत से बस अड्डे का निर्माण किया गया है। इन दोनों योजनाओं का मुख्यमंत्री ने लोकार्पण करने के साथ ही माल रोड मसूरी में फसाड कार्य, मसूरी में ही इको पार्क, धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में प्रस्तावित आडत बाजार में मल्टीलेवल कार पार्किंग के अलावा आडत बाजार में ही विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास करने के साथ ही आईएसबीटी परिसर में लैंडस्केप कार्यों, मालदेवता रोड में प्राकृतिक श्रोत के सौंदर्यीकरण कार्य, डिफेन्स कॉलोनी में गौरा देव पार्क एवं कृत्रिम झील के सौंदर्यीकरण कार्यों के साथ ही मियांवाला पंचायत घर के पास गन्ना सेन्टर के समीप भूमि पर पार्क निर्माण, लैंडस्केप व सौन्दर्यकरण कार्यों एवं राजकीय इंटर कॉलेज मियांवाला के समीप जोहड़ की भूमि पर वाटर पार्क लैंडस्केप के तहत सौन्दर्यकरण कार्यों का शिलान्यास किया है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!