उत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

सीएम ने किया चीनी मिल के पेराई सत्र का शुभारंभ, कहा किसानों के साथ खड़ी है सरकार

खबर को सुने

सीएम त्रिवेंद्र ने बटन दबाकर किया डोईवाला शुगर मिल के पेराई सत्र का शुभारंभ

किसानों को अनुदान के रूप में दिया ढाई सौ करोड़ रूपया: सीएम

डोईवाला। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने डोईवाला शुगर मिल में पेराई सत्र का शुभारंभ किया।

पूजा-अर्चना और हवन आदि के बाद डोईवाला चीनी मिल का पेराई सत्र शुरू हुआ। पेराई सत्र का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि कोरोनाकाल में आर्थिक संकट के बावजूद किसान उनकी प्राथमिकताओं में हैं। डोईवाला चीनी मिल से जुड़े 16,400 किसानों को उनके गन्ने का पूरा भुगतान कर दिया गया है। डोईवाला चीनी मिल के आधुनिकीकरण का प्रयास किया जा रहा है।

प्रदेश के किसानों को अनुदान के रूप में ढाई सौ करोड़ की मदद दी गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते साढे तीन वर्षो में किसानों को पारदर्शिता के साथ भुगतान किया गया है। धान के किसानों को एक हफ्ते में ऑन लाइन भुगतान किया जा रहा है।

हरिद्वार में बंद पड़ी शुगर मिल को ऋण देकर चालू करवाकर साढे बाइस हजार किसानों को राहत दी गई है। और इन किसानों को अस्सी फीसदी भुगतान भी कर दिया गया है। पांच लाख तक का लोन समूहों को बिना ब्याज दिया जा रहा है। जिले के एक न्याय पंचायत में मधुमक्खी पालन करवाने की योजना है। वहीं विस अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने चीनी मिल को आधुनिक करने और बेगास के हवा में उड़कर लोगों के घरों तक पहुंचने की बात रखी।

मौके पर राज्यमंत्री करन बोरा, ओएसडी धीरेंद्र पंवार, भाजपा जिलाध्यक्ष शमशेर पुण्डीर, संपूर्ण रावत, विनय कंडवाल, पंकज शर्मा, संदीप नेगी, प्रदीप नेगी, उधम सिंह सोलंकी, विनीत मनवाल, राकेश डोभाल, मनोज नौटियाल, मोहित उनियाल, गौरव मलहोत्रा, अब्दूल रजाक, महेंद्र चौधरी, ईश्वरचंद पाल, सुषमा चौधरी आदि उपस्थित रहे।

पैदल चल जनसंपर्क कर कोरोना से बचने की अपील की

डोईवाला। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चीनी मिल में पेराई सत्र की शुरूवात करने से पहले डोईवाला चौक से लेकर चीनी मिल तक पैदल चलकर लोगों से कोरोना से बचने की अपील की।

चीनी मिल में अपने संबोधन में कहा कि कोरोना का कोरोना का दूसरा चरण चल रहा है। दिल्ली में मामले बढ रहे हैं। वैक्सीन आने में वक्त है। और वैक्सीन को रखने के लिए कई व्यवस्थाएं करनी पड़ेंगी। टीका लगाने के लिए 130 करोड़ सीरिंज की जरूरत पड़ेगी।

इन केंद्रो से मिलेगा मिल को गन्ना

डोईवाला। डोईवाला चीनी मिल को गन्ना समिति के पांच क्रयकेंद्रों, देहरादून गन्ना समिति के 22, रूड़की गन्ना समिति के 33, ज्वालापुर गन्ना समिति के छह, पांवटा के चार क्रय केंद्र, गेट एरिया से मांग के अनुसार गन्ना प्राप्त होगा। इस पेराई सत्र के लिए तीस लाख कुंतल पेराई का लक्ष्य रखा गया है। वहीं चीनी की रिकवरी दस प्रतिशत बनाए रखने का लक्ष्य भी रखा गया है।

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!