उत्तराखंड

कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी गणेश गोदियाल ने पिंडर घाटी में किया रोड शो, मांगा जनता से आशीर्वाद

थराली/देवाल (चमोली)। पौड़ी लोकसभा का टिकट मिलने के बाद सोमवार को कांग्रेस प्रत्याशी गणेश गोदियाल पहली बार पिंडर घाटी के थराली और देवाल क्षेत्र पहुंचे। जहां पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका ढोल नगाड़ों तथा फूलमालों से स्वागत किया, इस दौरान उन्होंने देवाल और थराली में रोड शो किया और लोगों से वोट मांगे और जीत का आशीर्वाद लिया।

कांग्रेस प्रत्याशी ने थराली में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा की करनी और कथनी में बड़ा अंतर है। उन्होंने कहा कि भाजपा केवल लोगों को गुमराह करने का काम कर रही है, जनता बेरोजगारी, महंगाई से परेशान हो चुकी है। भाजपा को इसका जवाब लोकसभा के चुनाव में जनता देगी। इस दौरान कई लोगों ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। गोदियाल ने भाजपा  पर कांग्रेस के नेताओं को डराने, धमकाने और धन बल से खरीद कर लोकतंत्र को कमजोर करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा भाजपा अपने एक मंत्री को बचाने के लिए अंकिता भंडारी हत्याकांड का खुलासा नहीं कर रही है। जहां भाजपा महिला सम्मान की बड़ी-बड़ी बाते करती हैं, वहीं आज देवभूमि में महिलाएं सुरक्षित नहीं है। इस अवसर पर कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष मुकेश नेगी, पूर्व अध्यक्ष वीरेंद्र रावत, नरेंद्र सिंह, सुशील रावत, विजेंद्र रावत, प्रीतम सिंह रावत, कांग्रेस कमेटी ब्लॉक अध्यक्ष विनोद रावत, मनोज चंदोला आदि मौजूद थे।

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस प्रत्याशी ने देवाल में टैक्सी स्टैंड से सभा स्थल तक रोड शो कर जनता से आशीर्वाद लिया। उन्होंने देवाल में जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा को जूमलेबाज पार्टी बताते हुए कहा  कांग्रेस के 70 वर्षों में जो विकास हुआ वही  विकास पिछले दस सालों से दिख रहा है। उन्होंने कहा 2014 के चुनाव में भाजपा ने अच्छे दिन का तथा  2019 में  दो करोड युवाओं को रोजगार देने का वादा किया  अब 2024 में रामराज्य आऐगा कह कर गुमराह कर रही है। मंहगाई बेरोजगारी, चरम पर है। उन्होंने जनता से भाजपा को सबक सीखने की अपील भी की। इस मौके पर कई लोगों ने भाजपा छोड़ कांग्रेस का दामन थामा। इस अवसर पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मुकेश नेगी, डीडी कुनियाल, राजेंद्र दानू, ब्लाक अध्यक्ष कमल गडिया, महामंत्री खिलाप दानू, उर्मिला बिष्ट, जिपंस आशा धपोला, संगीता, महावीर बिष्ट, हीरा रूपकुडी, महेश त्रिकोटी आदि मौजूद थे।

ये भी पढ़ें:  उत्तराखंड में प्रियंका गाँधी, कहा – परिवार का उत्तराखंड से है पुराना नाता

Related Articles

Back to top button