उत्तराखंडदेशदेहरादूनधर्म कर्मपर्यटनराजनीतिविदेशस्वास्थ्य और शिक्षा

447 करोड़ लागत से बना देहरादून एयरपोर्ट का नया टर्मिनल जनता को समर्पित, केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ने किया लोकार्पण

Listen to this article

केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया टर्मिनल का लोकार्पण

देहरादून। केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 447 करोड़ की लागत से बनाए जा रहे देहरादून एयरपोर्ट टर्मिनल के फेज वन का लोकार्पण किया।

लोकार्पण करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह उनके लिए भावुक क्षण है। क्योकि 35 वर्ष पूर्व दून स्कूल में शिक्षा ग्रहण करने को वो एक छोटे विमान में बैठकर इसी एयरपोर्ट पर उतरे थे। इस देवभूमि में शिक्षा और संस्कार दोनों मिले हैं। इसलिए देहरादून हमेशा उनकी दिल में बसा रहा है। देवभूमि से पूरी दुनिया को आर्शीवाद मिलता है। इसलिए उत्तराखंड का विकास राष्ट्र नहीं बल्कि विश्व स्तर पर होना चाहिए। यह धरती पूरे विश्व के लिए धर्म और आस्था का केंद्र है। कहा कि 1984 में यह एयरपोर्ट स्थापित हुआ था। और 1982 में पहली बार यहां वायुदृत कंपनी का विमान लैंड हुआ था। लेकिन अब इस एयरपोर्ट को 40 हजार स्क्वायर फीट से बढाकर 30 लाख स्क्वायर फीट का बना दिया गया है। जिससे इसकी क्षमता ढाई सौ पैसेंजर से बढकर 1200 पैसेंजर हो गई है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि एविएशन टर्बो फ्यूल पर लगाए वैट को कम करके 2 प्रतिशत कर दिया गया है। जिससे हवाई यात्रियों को इसका लाभ मिलेगा। रिजनल कनेक्टिविटी को बढावा दिया जा रहा है। 450 करोड़ के कार्य केदारनाथ और 250 करोड़ के कार्य बद्रीनाथ में किए जा रहे हैं। दिल्ली व मुंबई जैसी सड़कें पहाड़ में बन रही हैं। चार धाम यात्रा से पूरी तरह प्रतिबंध हट चुका है। जिससे लोगों को आजीविका चलाने में मदद मिलेगी। पूर्व मुख्यमंत्री और क्षेत्रीय विधायक त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि इस प्रदेश की सीमाएं पौने छह सौ किलोमीटर तक फैली हुई हैं। इसलिए इस एयरपोर्ट का सामरिक महत्व भी है। इसे अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाया जाना चाहिए।

राज्य सभा सांसद नरेश बंसल ने भी विचार रखे। वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री व हरिद्वार सांसद डां0 रमेश पोखरियाल निशंक ने वर्चुअल कार्यक्रम में शामिल होते हुए स्थानीय लोगों को एयरपोर्ट पर रोजगार दिए जाने की बात कही। कहा कि स्थानीय लोगों को किसी भी तरह से परेशान नहीं किया जाना चाहिए। इस अवसर पर एयरपोर्ट निदेशक प्रभाकर मिश्रा, जिलाध्यक्ष शमशेर पुण्डीर, मंडल अध्यक्ष विनय कंडवाल, संपूर्ण रावत, कृष्ण कुमार सिंघल, ईश्वर रौथाण, राजेश भट्ट, सुमित लोधी, अभिषेक लोधी, उधम सिंह सोलंकी, सुरेश सैनी, अमन कुकरेती, राकेश डोभाल आदि उपस्थित रहे।

उत्तराखंड कलाकृतियों की 43 मीटर पेंटिंग की जमकर हुई तारीफ

डोईवाला। सिंधिया ने कहा कि टर्मिनल के अंदर उत्तराखंड कलाकृतियों की 43 मीटर पेंटिंग बनाई गई है। जिससे एयरपोर्ट के अंदर दाखिल होते हुए चारों धामों के दर्शन, हेमकुंड साहिब, हरिद्वार कुंभ आदि के दर्शन होते हैं। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि इस पेटिंग को गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड के लिए भेजा जाएगा।

केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने दी तीन फ्लाइटों को हरी झंड़ी

डोईवाला। केंद्रीय नागर मंत्री ने कहा कि टर्मिनल के लोकार्पण पर खाली हाथ उत्तराखंड नहीं आए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री धामी की तारीफ करते कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हे यहां के लिए 15-20 योजनाओं का प्रस्ताव दिया है। इसलिए वो उत्तराखंड में रिजनल कनेक्टिविटी को तीन नई फ्लाइट शुरू करने जा रहे हैं। यह तीनों उड़ानें देहरादून-पिथौरागढ-देहरादून, पिथौरागढ-हिंडन-पिथौरागढ और पंतनगर-पिथौरागढ-पंतनगर के बीच संचालित की जाएंगी।

18 नए हवाई रूट पर शुरू होंगी हेली सेवाएं

डोईवाला। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि उत्तराखंड में 18 हवाई रूट पर हेली सेवाओं को भी मंजूरी दी जा चुकी है। देहरादून-श्रीनगर-देहरादून, देहरादून-गौचर-देहरादून, हल्द्वानी-हरिद्वार-हल्द्वानी, पंतनगर-पिथौरागढ-पंतनगर, चिल्याणीसैंड-सहस्रधारा-चिल्याणीसैंड, गौचर-सहस्रधारा-गौचर और हल्द्वानी-धारचूला-हल्द्वानी आदि रूटों पर हेली सेवाएं दी जाएंगी।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!