उत्तराखंडखेलदेहरादूनधर्म कर्म

धर्म-कर्म: बारिश और बादलों के कारण चांद के दीदार न हों तो सुहागनें ऐसे खोलें करवाचौथ का व्रत

Listen to this article

उत्तराखंड। आज सुहागनें करवाचौथ का व्रत मना रही हैं।

लेकिन आज सुबह से ही आसमान में बादल छाए हुए हैं। और शाम छह बजे के लगभग से बारिश और तेज हवाएं भी चलनी शुरू हो गई हैं।

ऐसे में चिंता इस बात की है कि अगर बादलों के कारण चांद के दीदार नही हुए तो सुहागनें अपना व्रत कैसे पूरा करेंगी।

क्योंकि जिस तरह आसमान में बादल छाए हुए हैं और मौसम का मिजाज बना हुआ है। उससे लगता है कि चांद के दीदार में मुश्किलें आ सकती हैं।

इसलिए अब जानते हैं कि कैसे व्रत को पूरा करना चाहिए। ज्योतिषाचार्य पंडित रमेश प्रसाद तिवारी ने कहा कि यदि किसी क्षेत्र में बादल या खराब मौसम के कारण चांद नही दिखाई देता है तो

सुहागनें अपने क्षेत्र में शास्त्र या पंचाग के हिसाब से चाँद निकलने के समय पर पूर्व की तरफ जल चढ़ाकर दीपक जलाकर अपने पति का चेहरा देखकर अपना व्रत पूरा कर सकती हैं।

कहा कि यदि चाँद निकलने का समय पता न हो तो सवा आठ बजे के बाद व्रत पूरा किया जा सकता है।धर्म-कर्म: बारिश और बादलों के कारण चांद के दीदार न हों तो सुहागनें ऐसे खोलें करवाचौथ का व्रत

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!