उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनधर्म कर्मपर्यटनमौसमराजनीति

रानीपोखरी पुल बहने के बाद वाया नेपाली फार्म से रहेगी यातायात की व्यवस्था

Dehradun. रानीपोखरी में जाखन नदी पर बना पुल नदी में आई बाढ की चपेट में बहने से ऋषिकेश-देहरादून के बीच सड़क मार्ग का संपर्क टुट चुका है।

वहीं देहरादून और गढवाल क्षेत्र के बीच भी इस पुल के टुटने से सड़क मार्ग का संपर्क टुट चुका है। रानीपोखरी का पुल जाखन नदी में आए तेज बहाव के कारण पुरी तरह बहने के करीब पहुंच चुका है। जिससे अब इस पुल पर फिर कभी यातायात सुचारू नहीं हो पाएगा। जिससे अब देहरादून-ऋषिकेश व गढवाल-देहरादून के बीच आवाजाही करने वाले लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

हांलाकि लोनिवी अधिकारियों और भाजपा नेताओं का कहना है कि रानीपोखरी में जाखन नदी पर दूसरा पुल स्वीकृत हो चुका है। जिसकी डीपीआर बनकर तैयार हो चुकी है। और इस पुल को एनएच द्वारा बनाया जाना प्रस्तावित है। लेकिन इस पुल को बनने में कम से कम एक वर्ष का समय लग सकता है। तब तक लोगों को दूसरे रूट से आवाजाही करनी पड़ेगी।

देहरादून-ऋषिकेश व गढवाल-देहरादून के बीच आवाजाही करने वाले लोगों को अब वाया नेपाली फार्म से होकर जाना पड़ेगा। गढवाल, ऋषिकेश से देहरादून आने वाले लोगों को अब नेपाली फार्म होते हुए भानियावाला से देहरादून जाना पड़ेगा। वहीं देहरादून की तरफ से गढवाल या ऋषिकेश जाने के लिए भानियावाला होते हुए नेपाली फार्म और फिर ऋषिकेश जाना पड़ेगा।

बरसात खत्म होने या जाखन नदी में पानी बंद होने के बाद देहरादून से ऋषिकेश जाने के लिए रायपुर-थानों होते हुए भोगपुर से डांडी होकर ऋषिकेश जाया जा सकता है। वहीं गढवाल या ऋषिकेश से देहरादून जाने वाले लोग भी नदी में पानी बंद होने के बाद डांडी-भोगपुर से थानों होते हुए रायपुर, देहरादून जा सकते हैं।

इन्होंने कहा

ये भी पढ़ें:  मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने उत्तराखंड के प्रथम मुख्यमंत्री की स्मृति में आयोजित कार्यक्रम में किया प्रतिभाग, नित्यानंद स्वामी पार्क का भी किया उद्घाटन

रानीपोखरी पुल बहने के बाद वाया नेपाली फार्म होकर ट्रैफिक की व्यवस्था की गई है। ऋषिकेश की तरफ से देहरादून या देहरादून की तरफ से ऋषिकेश आने वाले लोगों को वाया नेपाली फार्म होकर जाना पडेगा। जितेंद्र चौहान, थानाध्यक्ष रानीपोखरी

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!