उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादून

रहस्यमयी गढ्ढे में कैमरे से अंदर दिखा विशायकाय पत्थर, जांच जारी

खबर को सुने

गढ्ढे का रहस्य गहराया, कैमरे से अंदर दिखा विशालकाय पत्थर

गढ्ढे में फेंके गए पत्थर और मिट्टी हुई गायब

डोईवाला। थानों के रामनगर डांड़ा के एक घर के आंगन के पास पाए गए गहरे गढ्ढे का रहस्य और गहराता जा रहा है।

बताया जा रहा है कि संबधित जांच विभाग द्वारा गढ्ढे के अंदर कैमरा ड़ालकर देखने से उसमे एक विशालकाय पत्थर दिखा है। लेकिन ये गढ्ढा है, कोई पुराना कुंआ है, कोई सुरंग है। या फिर कुछ और। इस पर अभी तश्वीर साफ नहीं हुई है। कई विभागों के लोग इसकी जांच को पहुंच चुके हैं। लेकिन अभी भी कोई किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा है। फिलहाल सुरसा के मुंह के तरह बढ रहे इस गढ्ढे को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आ रहे हैं।

जिससे कभी भी कोई हादसा यहां हो सकता है। मनवाल परिवार ने फिलहाल इस गढ्ढे के ऊपर फट्टे आदि रखे हुए हैं। लेकिन जब तक इस गढ्ढे की जांच करके इसे पूरी तरह बंद नहीं किया गया तब तक यहां किसी भी आदमी या जानवर के गिरने का खतरा बना हुआ रहेगा।

उल्लेखनीय है कि बीते शुक्रवार को रामनगर डांडा में राजेंद्र मनवाल ने मकान के निर्माण कार्य को रेत का ट्रक मंगवाया था। आंगन के पास से निकलते हुए ट्रक का पिछला भाग अचानक धंस गया था। जिसे जेसीबी से निकाला गया था। तब इस गहरे गढ्ढे का पता मनवाल परिवार को चला था। पुराने समय का यह गढ्ढा काफी चौड़ा और गहरा बताया जा रहा है। जिसे देखने के लोगों को तांता लगा हुआ है। किसी अनहोनी की आशंका से मनवाल परिवार काफी परेशान है।

क्योकि उनके कहने से कोई भी गढ्ढे के पास जाने से नहीं रूक रहा है। राजेंद्र मनवाल के पुत्र अजय मनवाल ने बताया कि जांच करने वाले लोगों ने कैमरा ड़ालकर गढ्ढे में देखा है। उसमें नीचे एक विशायकाय पत्थर दिखाई दिया है। लेकिन गढ्ढे में मिट्टी, पत्थर और ईटें फेंकी गई थी। वो कैमरे में नहीं दिखी हैं। जिससे रहस्य और गहरा गया है।

मनवाल परिवार के यहां रिश्तेदारों का तांता

डोईवाला। राजेंद्र मनवाल के यहां इन दिनों गढ्ढा देखने के लिए लोगों के साथ-साथ उनके रिश्तेदारों का भी तांता लगा हुआ है। उनके पुत्र ने कहा कि लोगों और रिश्तेदारों का आना अच्छी बात है। लेकिन कोई गढ्ढे में न गिर जाए इस बात का डर हमेशा लगा रहता है। उनकी मांग है कि जांच करने के बाद गढ्ढे को बंद कर दिया जाए।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!