उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनराजनीति

Doiwala में जानिए क्यों निर्दलीयों का रहा है खराब प्रदर्शन

खबर को सुने

डोईवाला। राज्य गठन से पहले तक डोईवाला क्षेत्र मसूरी विस क्षेत्र का हिस्सा हुआ करता था। तब जौलीग्रांट निवासी रणजीत सिंह वर्मा ने एक बार इस सीट पर निर्दलीय चुनाव जीता था।

लेकिन राज्य गठन के बाद 2002 से लेकर 2022 तक डोईवाला क्षेत्र से कई निर्दलीयों ने भाग्य आजमाया। लेकिन किसी भी निर्दलीय प्रत्याशी को यहां जीत नहीं मिली।

इनमें सबसे बड़ा नाम मसूरी सीट से लगातार तीन बार विधायक और यूपी में मंत्री रहे रानीपोखरी निवासी स्व0 राजेंद्र शाह का है। जो इस क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़े लेकिन भारी भीड़ साथ होने के बावजूद हार गए। जयदीप नेगी, एसपी सिंह भी यहां निर्दलीय के रूप में जीत दर्ज नहीं कर पाए। और भाजपा के बागी प्रत्याशी जितेंद्र नेगी को भी काफी कम वोट मिले हैं।

कांग्रेस की तरफ से गौरव सिंह (गिन्नी) को मिले सबसे अधिक वोट

डोईवाला। डोईवाला में भले ही गौरव सिंह भाजपा प्रत्याशी से हार गए हैं। लेकिन डोईवाला में पिछले चुनावों पर ध्यान दें तो उन्हे डोईवाला में कांग्रेस के पिछले प्रत्याशियों से अधिक वोट मिले हैं।

2002 को डोईवाला में कांग्रेस को कुल 17390 वोट, 2007 में कांग्रेस को 23502 वोट, 2012 में 22176 वोट, 2017 में कांग्रेस को 33633 वोट मिले थे। लेकिन इस बार 2022 में कांग्रेस को डोईवाला में 35267 वोट मिले हैं। वोट प्रतिशत बढने के बावजूद यहां कांग्रेस फिर चुनाव हार गई है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!