उत्तराखंडदेशदेहरादूनराजनीतिस्वास्थ्य और शिक्षा

एयरपोर्ट के कारण चार रास्ते बंद हुए अब इस पांचवें रास्ते को बंद करने की तैयारी

Listen to this article

एयरपोर्ट विस्तारीकरण के कारण दस फिट चौड़े रास्ते को बंद करने की तैयारी

Dehradun. जौलीग्रांट और अठुरवाला के लोगों ने कहा कि 2007 में एयरपोर्ट विस्तारीकरण में स्थानीय लोगों के बीस फीट चौड़े कुल चार रास्ते बंद किए गए हैं।

जिस कारण उस वक्त देहरादून-ऋषिकेश मुख्य मार्ग तक लोगों की सीधी आवाजही बंद हो गई थी। और स्थानीय लोगों को एक माह तक आंदोलन व अनशन करना पड़ा था। उस वक्त भी शासन-प्रशासन या एयरपोर्ट प्रशासन ने स्थानीय लोगों की कोई मदद नहीं की थी।

2007 में एक महीने तक चले आंदोलन के बाद जौलीग्रांट अस्पताल प्रशासन ने स्थानीय लोगों को दस फीट चौड़ा एक रास्ता दिया था। लेकिन अब एक बार फिर एयरपोर्ट का विस्तार करने की तैयारी की जा रही है।

जिसमें एयरपोर्ट को जो जमीन दी जा रही है। उसमें इस दस फिट चौड़े रास्ते का कुछ हिस्सा शामिल है। जिससे स्थानीय कोठारी मोहल्ला, बागी, बिचली जौली और सैनिक मोहल्ले के हजारों लोगों का यह रास्ता भी बंद कर दिया जाएगा।

 

कुछ समय पहले से एयरपोर्ट के कई विभागों के दर्जनों कर्मचारी व अधिकारी भी इसी रास्ते का इस्मेमाल करने लगे हैं।

जिसके बाद अब वार्ड संख्या पांच, छह और सात के सभासदों सहित कई दूसरे जनप्रतिनिधियों ने डोईवाला तहसील प्रशासन से मिलकर स्थानीय लोगों को रास्ता दिए जाने की गुहार लगाई है। सभासद राजेश भट्ट ने कहा कि चार गांवों के लिए मात्र दस फिट चौड़ा रास्ता दिया गया है। जो उन्होंने आंदोलन के बाद मिला है।

वो तो चाह रहे थे कि शासन-प्रशासन इस रास्ते को और चौड़ा करे। लेकिन चौड़ा करना तो दूर अब इस दस फीट रास्ते को भी बंद करने की तैयारी की जा रही है। जिसकों लेकर उन्होंने डोईवाला तहसीलदार को एक ज्ञापन भी दिया है। ज्ञापन सौंपने वालों में सभासद राजेश भट्, राकेश डोभाल, अवतार सिंह, विनीत मनवाल, भाजपा मंडल अध्यक्ष विनय कंडवाल आदि शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!