अपराधउत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनराज्य

पुलिस और वन विभाग की संयुक्त कार्रवाई- लच्छीवाला और बड़कोट से काटे गए खैर के पेड़ों  का मुख्य तश्कर हलजोरा (हरिद्वार) से गिरफ्तार

देहरादून। लच्छीवाला और बड़कोट वन रेंज से दर्जनों खैर के पेड़ काटकर ले जाने वाले मामले में पुलिस और वन विभाग की टीमों की संयुक्त कार्रवाई में खैर का मुख्य तश्कर पकड़ा गया है।

बीते छह अक्टूबर को लच्छीवाला और बड़कोट में खैर के पेड़ों को अवैध रूप से काटे जाने का मामला सामने आया था। जिसे प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था। खबर प्रकाशित होने के बाद वन महकमे में हड़कंप मच गया था।

जिसके बाद इसमें वन विभाग ने अपने यहां और पुलिस में  नामजद मुकदमा दर्ज करते हुए कुल तीन टीमों को धर-पकड़ के लिए भेजा था। चार दिन की खाक छानने के बाद आखिर इस मामले में मुख्य आरोपी को पकड़ लिया गया है।

जबकि नामजद किए गए दो आरोपी अभी भी पकड़ से बाहर हैं। इस मामले में वन विभाग पहले ही अपने एक लच्छीवाला वन रेंज के फॉरेंस्टर को निलंबित कर चुकी है। इस मामले में वन महकमे की काफी किरकिरी हुई है।

जिसके बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए वन महकमे और पुलिस ने ऐड़ी-चोटी का जोर लगा रखा था। जिसके बाद दोनों विभागों की संयुक्त कार्रवाई में खैर तश्कर मौसम अली पुत्र कमरूद्दीन निवासी सिकरौड़ा, हलजोरा जिला हरिद्वार को धर-दबोचा गया है। जबकि पुलिस व विभाग की टीमें बाकि दो आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है। फिलहाल पुलिस पकड़े गए आरोपी से पूछताछ में जुटी हुई है।

पुलिस टीम में चौकी इंचार्ज लालतप्पड़ वीकेंद्र चौधरी ने इस मामले में वन महकमे की आरोपी को पकड़ने में काफी मदद की। टीम में बड़कोट रेंजर धीरज रावत,  फॉरेस्टर महेंद्र चौहान, फॉरेस्टर राजू राणा, वन बीट अधिकारी वीरेंद्र सिंह, मुकेश सजवाण, अभिषेक राठौड आदि मौजूद रहे।

दूसरा आरोपी आज सुबह खेड़ी, हरिद्वार से गिरफ्तार

डोईवाला। लच्छीवाला वन विभाग की टीम द्वारा खैर कटान मामले में शामिल एक और आरोपी को हरिद्वार जिले से गिरफ्तार किया है। वन विभाग के अनुसार खैर के पेड़ कटान मामले में शामिल शफीक पुत्र भोलू निवासी खेड़ी, शिकोहपुर जिला हरिद्वार को सोमवार सुबह पकड़ लिया गया है।

 

ये भी पढ़ें:  एस.सी.ई.आर.टी के नवनिर्मित भवन का मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण, पं० दीनदयाल उपाध्याय राज्य शैक्षिक उत्कृष्टता पुरस्कार से विद्यार्थियों और प्रधनाचार्यों को किया गया सम्मानित
लच्छीवाला टीम द्वारा पकड़ा गया दूसरा आरोपी।

लच्छिवाला रेंज की टीम ये रहे शामिल
(१) घनानन्द उनियाल , वनक्षेत्राधिकारी लच्छीवाला
(२) चण्डी उनियाल वन दारोग़ा
(३) गरमीत सिंह वन दारोग़ा
(४) पंकज रावत वन दारोग़ा
(५) इतेंद्र बर्थवाल वन दारोग़ा
(६) अजय यादव वन आरक्षी
(७) अंकित सिंह वन आरक्षी

कुछ और आरोपी हैं टीमों रडार पर

डोईवाला। संयुक्त टीमों के रडार पर कुछ और आरोपी भी हैं। जिनकी गिरफ्तारी कभी भी की जा सकती है। फिलहाल इस मामले में दो गिरफ्तारियां पुलिस व वन महकमे की टीमें कर चुकी हैं। सुत्रों के अनुसार कुछ और आरोपियों को जल्द ही टीमें गिरफ्तार कर सकती हैं।

23 अगस्त और 29 सितंबर को काटे गए थे खैर के पेड़

डोईवाला। लच्छीवाला और बड़कोट वन रेंज से बीते 23 अगस्त और 29 सितंबर को खैर के दर्जनों पेड़ काटे गए थे। बड़कोट वन रेंज में काटे गए पेड़ों का मामला वहां के अधिकारियों के संज्ञान में था। लेकिन लच्छीवाला वन रेंज अधिकारियों को खैर के पेड़ काटने का मामला संज्ञान में नहीं था। मामला संज्ञान में आने के बाद ही दोनों वन रेंज के अधिकारी हरकत में आए और कार्रवाई को टीमें गठित की।

 

फॉरेस्टर पर की थी गाड़ी चढाने की कोशिश    

डोईवाला। सुत्रों के अनुसार बड़कोट वन रेंज से जुड़े एक फॉरेस्टर पर रोके जाने पर खैर तश्करों ने गाड़ी चढाने की भी कोशिश की। फॉरेस्टर महेंद्र चौहान और उनके स्टाफ ने जब एक खैर तश्कर का पीछा कर उसे रोकने की कोशिश की तो खैर तश्कर ने फॉरेस्टर के ऊपर ही गाड़ी चढाने की कोशिश की। किसी तरह फॉरेस्टर बच गए। लेकिन उनके पैर में चोटें आई हैं। इसके बावजूद इस फॉरेस्टर ने तश्कर को पकड़ने में काफी मदद की।

मुखबिर की सूचना पर हुई बड़ी कार्रवाई

डोईवाला। पुलिस व तन महकमे ने आरोपियों को पकड़ने के लिए पूरा जाल बिछा रखा था। लेकिन आरोपी लगातार चार दिनों से तीनों टीमों को गच्चा दे रहे थे। रविवार रात टीमें हरिद्वार के हलजोरा से वापस आ गई थीं। लेकिन फिर मुबखिर ने आरोपी की सूचना दी। जिसके बाद रविवार रात लगभग डेढ बजे टीमें फिर वापस रवाना हुई। और खैर के मुख्य तश्कर को दबोच लिया।

पिकअप वाहन भी पकड़ा गया

डोईवाला। खनन चोर और लकड़ी तश्कर अब जंगलों में चोरी करने के लिए कई बार पिकअप वाहन का इस्तेमाल करते हैं। वन विभाग व पुलिस की कार्रवाई में खैर तश्करी मामले में आरोपी के साथ ही एक पिकअप वाहन संख्या यूके17 सीए 4193 को भी पकड़ लिया है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!