उत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

कृर्षि कानून के खिलाफ फिर शुरू हुआ धरना-प्रदर्शन

खबर को सुने

डोईवाला में कई स्थानों में हुआ विरोध-प्रदर्शन

डोईवाला। संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा किसान आंदोलन के 6 माह पूरे होने पर 26 माह मई को संयुक्त मोर्चे द्वारा काला दिवस मनाया गया।

संयुक्त मोर्चे से जुड़े किसानों ने कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए अपने घर और गांवों पर इकठ्ठा होकर विरोध-प्रदर्शन कर काला दिवस मनाया। फतेहपुर चौक, माजरी चौक, भानियावाला, चांदमारी, बाजावाला, नियामवाला, तेलीवाला, खैरी, बुल्लावाला, झबरावाला आदि स्थानों में काला झंडा लेकर प्रदर्शन कर सरकार का पुतला व बिल की प्रतियां जलाई।

विरोध प्रदर्शन में अलग अलग स्थानों पर प्रीतपाल सिंह, जसवीर सिंह, मनोहर सिंह सैनी, अमरजीत सिंह, दलजीत सिंह, अनूप पाल, जाहिद अंजुम, याकुब अली, अमीर हसन, राहुल सैनी, बलविंदर सिंह, बलवीर सिंह, मलकीत सिंह, रणजीत सिंह, जसवंत सिंह, अश्वनी त्यागी, हरेन्द्र बालियान आदि उपस्थित रहे।

उधर नकरोंदा में बुध देव सेमवाल के साथ लखवीर सिह की टीम व बुल्लावाला में रंजीत बॉबी, जसवंत सिह, भानियावाला मे राहुल सैनी, दूधली क्षेत्र में गौरव चौधरी, रफल सिंह, उमेद बोरा आदि लोगों ने विरोध-प्रदर्शन किया। समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता फुरकान अहमद कुरैशी व युवजन सभा के जिला अध्यक्ष आशीष यादव तथा कम्युनिस्ट पार्टी के अश्वनी त्यागी ने कृर्षि कानून के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए कहा कि कोरोनाकाल में जनता को भगवान भरोसो छोड़ दिया गया है।

किसानों को रासायनिक खाद नही मिल पा रहा। जिसके लिए किसान लंबी लाइनों में खड़े हैं। धरना देने वालो में हरिकिशन चौहान, सराफत सलमानी, एहसान मिस्त्री आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!