उत्तराखंड

राज्यसभा उम्मीदवार के रूप में महेंद्र भट्ट ने किया नामांकन, सीएम धामी और अनिल बलूनी का बड़ा बयान

देहरादून। उत्तराखंड की एक राज्यसभा सीट के लिए हो रहे चुनाव की प्रक्रिया के तहत नामांकन के आखिरी दिन भाजपा की तरफ से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के द्वारा नामांकन किया गया,इस दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी जिनकी जगह महेंद्र भट्ट राज्यसभा पहुंच रहे हैं,वह भी मौजूद रहे तो वहीं भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम,सांसद रमेश पोखरियाल निशंक, माला राजलक्ष्मी शाह तीरथ सिंह रावत, अजय टम्टा के साथ धामी कैबिनेट के कई मंत्री और विधायक भी मौजूद रहे। महेंद्र भट्ट के राज्यसभा उम्मीदवार के रूप में नामांकन करने के साथ ही यह भी साफ हो गया है कि वह निर्विरोध राज्यसभा सांसद चुने जाएंगे। क्योंकि कांग्रेस की तरफ से किसी भी नेता को उम्मीदवार नहीं बनाया गया है, संख्या बल को देखते हुए कांग्रेस ने उम्मीदवार नहीं घोषित किया। 27 फरवरी को मतदान की प्रक्रिया राज्यसभा सीट को लेकर होनी थी,लेकिन अब एक ही नामांकन होने से चुनाव की प्रक्रिया भी नहीं होगी। नामांकन पत्र की जांच होने के बाद नामांकन पत्र में सभी चीज सही पाए जाने के साथ ही महेंद्र भट्ट को राज्य सभा सांसद बनने का सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा। नामांकन करने के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट जिन्होंने राज्यसभा सीट पर नामांकन किया है उनका कहना है कि वह पार्टी हाई कमान का आभार तो व्यक्त करते ही है साथ ही जो उम्मीदें हाई कमान ने उन पर जताई है उनको वह पूरा करेंगे।

 महेंद्र भट्ट के राज्यसभा सीट पर नामांकन करने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी पार्टी हाई कमान का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि एक जमीनी कार्यकर्ता को पार्टी के द्वारा उम्मीदवार राज्यसभा का बनाया गया है,साथ ही दूरस्थ जनपद से महेंद्र भट्ट आते हैं और उनको उम्मीदवार बनाकर पार्टी ने बड़ा संदेश दूरस्थ जनपदों के विकास को लेकर भी दिया है, महेंद्र भट्ट एक वकील के रूप में राज्यसभा में उत्तराखंड के मुद्दों को उठाएंगे और प्रदेश के विकास में अपनी भागीदारी अदा करेंगे। वहीं राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी जिनका कार्यकाल 2 अप्रैल को पूरा हो रहा है और उन्हीं की जगह महेंद्र भट्ट राज्यसभा पहुंचने जा रहे हैं तो उनका भी कहना है कि महेंद्र भट्ट एक बेहतर उम्मीदवार पार्टी की तरफ से हैं, महेंद्र भट्ट जब भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष थे तो वह युवा मोर्चा में महामंत्री के रूप में उन्होंने कार्य किया है और उन्होंने महेंद्र भट्ट को बहुत करीबी से देखा है, कि उनका काम करने का क्या कुछ तरीका है निश्चित रूप से उसका फायदा प्रदेश को मिलेगा।

ये भी पढ़ें:  इलेक्शन में व्यस्तता के बीच भी एक्शन मोड में सीएम धामी, सवा माह से चुनाव तैयारी के बहाने जनता की मूलभूत समस्याओं से बच रहे अधिकारियों में मचा हड़कंप

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!