उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनधर्म कर्मपर्यटनमौसमराज्य

रानीपोखरी पुल निर्माण कार्य हुआ पूरा, शनिवार से लोड टेस्टिंग का कार्य शुरू

रानीपोखरी पुल को 280 मीटर लंबा और  10.25 मीटर चौड़ा बनाया गया है

Listen to this article

रिकार्ड समय में बनकर तैयार हुआ रानीपोखरी पुल इसी माह जनता के लिए खुलेगा

Uttarakhand. देहरादून-गढवाल क्षेत्र के बीच आवाजाही करने वाले लोगों के साथ-साथ देहरादून-ऋषिकेश के बीच आवाजाही करने वाले लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी है।

रानीपोखरी में जाखन नदी पर बनाया जाने वाला 280 मीटर लंबा टू लेन पुल राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा रिकार्ड समय में बनकर तैयार कर लिया गया है। पुल की सुरक्षा जांचने को शनिवार से पुल की लोड टेस्टिंग शुरू कर दी गई है।

सुरक्षा मानकों पर खरा उतरने के बाद इस पुल को इस पुल को इसी माह जनता के लिए खोलने की तैयारियां की जा रही हैं। जाखन नदी पर बने करीब छह दशक पुराने पुल के बहने के बाद उसी स्थान पर नए पुल का निर्माण शुरू किया गया था।

जो अब बनकर पूरी तरह तैयार कर लिया गया है। जिससे देहरादून-गढवाल क्षेत्र के बीच आवाजाही करने वाले लोगों के साथ-साथ देहरादून-ऋषिकेश भी सीधे इस पुल से जुड़ जाएंगे।

वर्तमान में वैकल्पिक व्यवस्था के तहत जाखन नदी के बीच से एक वैकल्पिक मार्ग बनाया गया है। जिससे लोग आवाजाही कर रहे हैं।  और यह मार्ग कभी भी जाखन नदी में अधिक पानी आने से बह सकता है।

रानीपोखरी में नए पुल की कुल लंबाई 280 मीटर और पुल की कुल चौडाई 10.25 मीटर है। जिसमें फुटपॉथ आदि को हटाकर कुल 7.5 मीटर चौड़ाई में गाड़ियां चलेंगी। इस पुल को 16 करोड़ 18 लाख की लागत से तैयार किया गया है। यह पुल कुल आठ पिलर और दो अबेडमेंट पर खड़ा है। जिसकी टेस्टिंग का कार्य शुरू कर दिया गया है।

भाजपा नेता सुबोध जायसवाल ने कहा कि रानीपोखरी पुल बनने से गढवाल के जिले व ऋषिकेश क्षेत्र सीधे राजधानी से जुड़ जाएगा। इस पुल के बनने से लोगों को खासकर बरसात के दिनों में अपनी जान जोखिम में ड़ालकर जाखन नदी से होकर नहीं जाना पड़ेगा।

राष्ट्रीय राजमार्ग के जेई विकास परमार ने कहा कि पुल निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। अब पुल की लोड टेस्टिंग शुरू कर दी गई है। लोड टेस्टिंग सफल होने पर इसी माह पुल को जनता के लिए खोल दिया जाएगा।

 

ये भी पढ़ें:  मीडिया संपर्क विभाग के प्रदेश संयोजक बने राजीव तलवार, लोकसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी ने दी अहम जिम्मेदारी

लोड टेस्टिंग को तीन डायल गेज लगाए

Dehradun. नए पुल की लोड टेस्टिंग को पुल के नीचे कुल तीन डायल गेज लगाए गए हैं। जो पुल की रीडिंग जांचेंगे। पुल में कुल सात स्पान लगे हुए हैं। और एक स्पान की टेस्टिंग में तीन दिन लगेंगे।

पुल की लोड टेस्टिंग के लिए अलग-अलग भार क्षमता के ट्रकों को पुल पर खड़ा कर रीडिंग ली जाएगी। और तय मानकों पर खरा उतरने के बाद पुल को जनता के लिए खोल दिया जाएगा।

 

 

पिछले वर्ष 27 अगस्त को बह गया था रानीपोखरी पुल

Dehradun. रानीपोखरी जाखन नदी पर बना 57 साल पुराना पुल जाखन नदी में बाढ आने के कारण बह गया था। तब रानीपोखरी पुल के पिलर के नीचे अवैध खनन को इसकी बड़ी वजह माना गया था। जिस वक्त पुल गिरा था उस वक्त इसके ऊपर दौड़ रहे कई वाहन भी नीचे गिर गए थे। लेकिन गनीमत रही कि किसी की जान नहीं गई थी।

7 जनवरी 2022 में नए पुल के निर्माण का कार्य शुरू किया गया। और छह माह बाद 6 जुलाई 2022 को रिकार्ड समय में पुल निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया। सुरक्षा मानकों पर खरा उतरने के बाद पुल को जनता के लिए खोल दिया जाएगा। मुख्यमंत्री धामी के इसी माह पुल का लोकार्पण करने की संभावनाएं जताई जा रही हैं।

Related Articles

Back to top button