उत्तराखंडदेशदेहरादूनधर्म कर्मपर्यटनराज्य

“रूद्राक्ष” ने अब तक 633 श्रद्धालुओं को कराए बद्री-केदार के दर्शन

देहरादून। जौलीग्रांट हैलीपेड से नियमित उड़ान भर रहे रूद्राक्ष एविएशन के 18 सीटर एमआई

17 हेलीकॉप्टर द्वारा दो मई से लेकर चार जून तक करीब माह के दौरान कुल 633 श्रद्धालुओं

को बद्री-केदार के दर्शन कराए जा चुके हैं।उत्तराखंड में 24 अप्रैल को केदारनाथ और 27

अप्रैल को बदीरनाथ धामों के कपाट खुलने के बाद से इन धामों के लिए रूद्राक्ष ने दो मई से

जौलीग्रांट से उड़ान भरना शुरू किया था। मौसम साफ रहने और हेलीकॉप्टर को उड़ान

की अनुमति मिलने पर रूद्राक्ष ने बद्री-केदार को कई बार एक ही दिन में दो फेरे भी लगाए हैं।

इस हेलीकॉटर से जौलीग्रांट से कुल 18 श्रद्धालुओं को लेकर दर्शनों के लिए ले जाया

जाता है। और इतने ही श्रद्धालुओं को लेकर वापस आया जाता है।

रूद्राक्ष एविएशन का दावा है कि एमआई 17 हेलीकॉप्टर डबल इंजन हेलीकॉप्टर है।

जो वीआईपी के लिए और बड़े ऑपरेशन में इस्तेमाल किया जाता है। उत्तराखंड चारधाम

यात्रा में इस तरह के हेलीकॉप्टर को पहली बार संचालित किया गया है। जिसमें सफर काफी

आरामदायक होता है। बद्रीनाथ और केदारनाथ में वीआइपी दर्शनों के सुविधा के साथ भोजन

की व्यवस्था भी रूद्राक्ष एविएशन कंपनी द्वारा करवाई जाती है।

रात्रि विश्राम की सुविधा देने की तैयारी

देहरादून। रूद्राक्ष एविएशन जौलीग्रांट से उड़ान के दौरान बद्री-केदार में श्रद्धालुओं को रात्रि

विश्राम की सुविधा की देने पर विचार कर रही है। जिसके बाद जौलीग्रांट से बद्री-केदार को

उड़ान भरने वाले श्रद्धालु एक रात बिताकर वापस जौलीग्रांट लौट सकेंगे।

दो मई से लेकर चार जून तक लगभग एक माह के दौरान कुल 633 श्रद्धालुओं को बद्री-केदार

के दर्शन कराकर वापस लाया जा चुका है। कंपनी श्रद्धालुओं को रात्रि विश्राम कराने पर

विचार कर रही है। पीके छाबरी, प्रबंधक रूद्राक्ष एविएशन।

ये भी पढ़ें:  उत्तराखंड : मंगलौर और बद्रीनाथ विधानसभा उप चुनाव में कांग्रेस की जीत, भाजपा उम्मीदों को झटका, दोनों दलों के अध्यक्ष के बयान आए सामने

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!