उत्तराखंडदेहरादूनधर्म कर्मस्वास्थ्य और शिक्षा

अन्य राज्यों के रेस्क्यू में भी मदद कर रहा एसडीआरएफ उत्तराखंड

खबर को सुने

Dehradun. पुलिस महानिदेशक ने एसडीआरएफ मुख्यालय जौलीग्रांट में एसडीआरएफ में किए जा रहे कार्यो और रेस्क्यू उपकरणों का निरीक्षण किया।

पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार द्वारा नव निर्मित वाहिनी के निर्माण कार्यों का निरीक्षण कर कार्यों को समय से पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया गया। उसके बाद उन्होंने जवानों के सैनिक सम्मेलन में भाग लिया। एसडीआरएफ एक परिचय पत्रिका का विमोचन कर नवनिर्मित वाहिनी में वृक्षारोपण किया गया। पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पिछले साढे सात वर्षो में एसडीआरएफ ने उत्तराखंड के साथ ही बिहार और आंध्रप्रदेश की आपदा में भी उत्कृष्ठ कार्य किया है।

कोविड में जवानों ने दवाई, राहत सामाग्री पहुंचाने से लेकर दाह संस्कार तक में मदद की है। बीस गांवों को गोद लिया गया है। एसडीआरएफ की 27 से 31 तक यूनिट हो चुकी हैं। तोता घाटी में हो रही घटनाओं को लेकर व्यासी या कोडियाला में एक अन्य यूनिट जल्द ही गठित की जाएगी।

जवानों के वेतन विसंगति को लेकर कहा कि जवानों द्वारा बेहतर कार्य करने पर पुरूष्कार या मेडल दिए जा रहे हैं। शासन से संपर्क स्थापित किया जा रहा है। इस अवसर पर पुलिस उपमहानिरीक्षक अपराध एवम कानून व्यवस्था नीलेश भरणे, सेनानायक नवनीत भुल्लर,

उपसेनानायक अजय भट्ट, पुलिस महानिदेशक जया बलूनी, कमल सिंह पंवार सहायक/अपर पुलिस अधीक्षक, अनिल शर्मा सहायक सेनानायक, इंस्पेक्टर जगदंबा बिजल्वाण, अमित चौहान, ललिता नेगी, अनिता गैरोला, जयपाल राणा, विजय रयाल प्रमोद रावत आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!