उत्तराखंडदेशदेहरादूनधर्म कर्मपर्यटनराज्यविदेश

चारधाम यात्रियों का पंजीकरण अनिवार्य: तैयारियों को प्रशासन ने की बैठक, दिए ये निर्देश

गौचर / चमोली। 27 अप्रैल को बदरीनाथ मंदिर के कपाट खुलेंगे।

आगामी चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर बुधवार को जिलाधिकारी हिमांशु

खुराना की अध्यक्षता में बैठक हुई। जिसमें विभागों को चारधाम यात्रा से पूर्व सभी

व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए।

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि श्रद्वालुओं के लिए यात्रा मार्गो पर सभी प्रकार की

व्यवस्थाएं और सुविधाएं सुनिश्चित की जाए। उन्होंने एनएचआईडीसीएल, लोनिवि व

बीआरओ के अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों में यात्रा मार्ग को सुचारू

व सुरक्षित रखने के लिए पूरे इंतेजाम किए जाए। सभी एसडीएम अपने क्षेत्रों में संबधित

कार्यदायी संस्था के साथ सड़कों का निरीक्षण करें। यात्रा मार्ग पर अवशेष कार्यो को शीघ्र

पूरा करने के साथ ही वैकल्पिक मार्गो का भी सुधारीकरण किया जाए। श्रद्वालुओं की यात्रा

को सुगम बनाने के लिए यात्रियों का पंजीकरण, पुलिस सहायता केन्द्र, चैक पोस्ट,

बैरियर पर सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही पीआरडी जवानों को यात्रा संचालन का

विशेष प्रशिक्षिण दिया जाए। यात्रा के दौरान ट्रैफिक मैनजमेंट, पार्किंग, आवास, भोजन,

पानी, शौचालय एवं यात्रियों की सुविधा के लिए साइनेज के साथ संचार व्यवस्था को

सुदृढ किया जाए। पंजीकृत वाहनों की फिटनेस तथा ग्रीन कार्ड निर्गत किए जाने हेतु

परिवहन विभाग को विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए गए।

स्वास्थ्य विभाग को बेसिक मेडिकल उपकरणों सहित चिकित्सकों की व्यवस्थाएं

सुनिश्चित करने को कहा। जल संस्थान को बद्रीनाथ तथा हेमकुण्ड यात्रा मार्ग में प्रमुख

स्थानों पर वाटर एटीएम की व्यवस्था तथा यात्रा मार्ग के सभी स्टैण्ड पोस्ट, टीटीएसपी,

पीटीएसपी को सुचारू करने के निर्देश दिए। विद्युत विभाग को यात्रा मार्ग पर विद्युत

व्यवस्था वहाल रखने को कहा। नगर निकायों को यात्रा पढाव एवं यात्रा मार्गो पर ठोस

अपशिष्ट प्रबंधन एवं सफाई व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाने के निर्देश दिए। पर्यटन एवं सुलभ

इंटरनेशनल को यात्रा मार्ग पर शौचालयों की मरम्मत, निर्माण के साथ ही विद्युत व पानी

की आपूर्ति एवं धर्मशाला, आश्रम, होटलों में मूल्य निर्धारण के साथ रेट लिस्ट चस्पा कराने

हेतु आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए। यात्रा मार्ग होटल के अलावा होमस्टे में

यात्रियों के ठहरने की अतिरिक्त व्यवस्था करने के साथ ही कन्ट्रोल रूम के नंबरों का

व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश भी दिए गए। जिला पूर्ति अधिकारी के बैठक में

अनुपस्थित रहने पर उनका वेतन रोकने के साथ कारण बताओं नोटिस जारी किया गया।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा.ललित नारायण मिश्र, अपर जिलाधिकारी

डा.अभिषेक त्रिपाठी, संयुक्त मजिस्ट्रेट दीपक सैनी, पुलिस उपाधीक्षक नाताशा सिंह,

एसीएमओ डा.वीपी सिंह सहित वर्चुअल माध्यम से यात्रा व्यवस्थाओं से जुड़े तमाम

विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

ललिता प्रसाद लखेड़ा

ये भी पढ़ें:  अंकिता, अग्निपथ और उत्तराखंड की अस्मिता पर केंद्रित हो चुका चुनाव : राजीव महर्षि

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!