उत्तराखंडदेहरादूनधर्म कर्मराज्यस्वास्थ्य और शिक्षा

डोईवाला चीनी मिल में गदरपुर से लाई गई “दो क्वॉड बॉडी” स्थापित, मिल की उत्पादन क्षमता बढेगी

देहरादून। चीनी मिल में गदरपुर से लाई गई दो क्वॉड बॉडी को स्थापित कर दिया गया है।

मिल प्रशासन का दावा है कि इससे चीनी मिल की उत्पादन क्षमता बढेगी।

नोडल अधिकारी / निर्माण रसायनज्ञ आशुतोष अग्निहोत्री ने बताया कि शुगर मिल डोईवाला में लगभग दो वर्ष पूर्व चीनी

मिल गदरपुर से दो क्वॉड बॉडी लायी गई थी। जो कि काफी समय से मिल में स्थापित नहीं हो पाई थी। जिसके बाद चीनी

मिल के अधिधासी निदेशक डी०पी० सिंह बीते अक्टूबर माह में मिल अधिकारियों की मीटिंग कर दोनों क्वाड बॉडी को जल्द

लगाने का निर्णय लिया गया। शुक्रवार को अधिशासी निदेशक और उनकी पत्नी  वरिष्ठ अधिवक्ता अलका सिंह द्वारा पूर्ण

विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना कर दोनों क्वाड बॉडी को मिल में स्थापित करवा दिया गया। गदरपुर चीनी मिल से लाई

गई दोनों क्वाड बॉडियों में से एक बॉडी में 560 हीटिंग स्क्वायर मीटर और दूसरी बॉडी 440 हीटिंग स्क्वायर मीटर

क्षमता है। जिससे चीनी मिल की उत्पादन क्षमता बढेगी। इससे मिल की सामान्य सफाई में आने वाले व्यय को भी कम्र

किया जा सकेगा, वहीं बैगास की बचत में वृद्धि होगी इस अवसर पर मुख्य अभियन्ता अभिषेक कुमार, उप मुख्य

रसायनज्ञ ए०के०पाल, नोडल अधिकारी आशुतोष अग्निहोत्री, गन्ना अधीक्षक सिद्धार्थ दीक्षित,  उदयकान्त मिश्रा, अरविंद

शर्मा, असित कुमार प्रतिहार, मांगे सिंह, अक्षय कुमार सिंह, सुशील कुमार, दीप प्रकाश, अभिषेक त्रिपाठी, मोहित सेमवाल,

अमरजीत सिंह, अरविन्द कुमार शर्मा, नरेन्द्र कुमार, दीपक विश्वकर्मा, मयंक, महेन्द्र, अकरम खान, प्रकाश, जसवन्त,

अशोक शर्मा, राममिलन, नरेन्द्र धीमान, शिवानी वर्मा, सुषमा आर्य, नीना संधू, प्रकाश कौर, रेखा देवी, निर्मला देवी आदि उपस्थित रहे।

क्या है क्वाड बॉडी

देहरादून। क्वाड बॉडी एक ऐसी मशीन है। जिससे चीनी मिल में गन्ने के रस से पानी को अगल कर उसे गाढा किया जाता

है। इससे चीनी के उत्पादन पर सकारात्मक असर पड़ता है। जिससे चीनी का उत्पादन और गुणवत्ता और बेहतर हो जाती है।

ये भी पढ़ें:  चारधामों में दर्शन के लिए यात्रियों की दैनिक निर्धारित सीमा समाप्त

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!