अपराधउत्तराखंडदेहरादूनराज्य

कमजोर पैरवी और जांच में लापरवाही को लेकर यूकेडी ने फूंका सरकार का पुतला

महिलाओं पर अत्याचार के खिलाफ यूकेडी का प्रदर्शन फूंका पुतला

Dedhradun. उत्तराखंड क्रांति दल महिला मोर्चा ने आज उत्तराखंड सरकार का पुतला फूंका और महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार को लेकर जमकर नारेबाजी की।

 

 

 देहरादून के द्रोण चौक में यूकेडी के पुतला दहन कार्यक्रम में आंदोलनकारियों ने हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में आरोपितों के खिलाफ कमजोर पैरवी तथा जांच एजेंसियों और पुलिस की लापरवाही के खिलाफ जमकर आग उगली।

 

 

 उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय युवा मोर्चा प्रभारी शिव प्रसाद सेमवाल भी इस पुतला दहन कार्यक्रम में शामिल थे।

 

 

 शिव प्रसाद सेमवाल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से किरन नेगी के हत्यारे बरी हो गए, जबकि उत्तराखंड में अंकिता भंडारी हत्याकांड में एसआईटी से सभी उत्तराखंड वासियों और अंकिता के परिजनों का भरोसा खत्म हो चुका है। सबूतों को एक-एक करके नष्ट किया जा रहा है और इस केस को किरन नेगी के केस से भी काफी कमजोर बनाया जा रहा है।

 

 

 उत्तराखंड क्रांति दल महिला मोर्चा की अध्यक्षा सुलोचना ईष्टवाल ने कहा कि किरन नेगी के हत्यारों की जांच करने के बजाए एसआईटी आरोपितों के खिलाफ आवाज उठाने वालों की ही जांच में जुट गई है, यह बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण है।

 

 

 पुतला दहन में संरक्षक त्रिवेंद्र पंवार, युवा मोर्चा की प्रभारी सुलोचना ईष्टवाल, केंद्रीय संगठन सचिव मीनाक्षी घिल्डियाल, मधु सेमवाल, शकुंतला रावत, रेखा मियां,  मीना थपलियाल, मीना नेगी, मंजू रावत, सविता श्रीवास्तव, अनिल डोभाल, देवेंद्र रावत, संजीव शर्मा, राजेंद्र गुसाई, किरण रावत,मोहन असवाल, अनुपम खत्री, अरविंद रमोला, अनिल डोभाल,टीकम राठौड़, लताफत हुसैन आदि शामिल थे।

ये भी पढ़ें:  भाजपा उम्मीदवारों ने किए नामांकन, सीएम धामी के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भी रहे मौजूद

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!