उत्तराखंडदेशदेहरादूनस्वास्थ्य और शिक्षा

वेतन पुनरीक्षण न होने पर एड्स नियंत्रण संविदा कर्मियों का काला फीता बांधकर प्रदर्शन

Listen to this article

एड्स नियंत्रण संविदा कर्मियों का काला फीता बांधकर प्रदर्शन

Dehradun. एड्स नियंत्रण संविदा कर्मियों ने अपने कार्य स्थलों पर सुबह नौ बजे से लेकर दस बजे तक वेतन पुनरीक्षण न होने पर काला फीता बांधकर धरना-प्रदर्शन किया।

संविदाकर्मी राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन नाको से दो-तीन वर्षों से लगातार वेतन पुनरीक्षण की मांग कर रहे हैं। लेकिन नाको द्वारा सिर्फ वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों एवं चिकित्सा अधिकारियों का मानदेय पुनरीक्षत किया गया है।

शेष संविदा कर्मियों का नहीं किया गया है। जबकि वर्तमान समय में लगभग समस्त एडस् नियंत्रण संविदा कर्मी अपने कार्यों के साथ-साथ कोविड 19 लिए अतिरिक्त कार्य कर रहे हैं जिससे सैकड़ों संविदा कर्मी संविदा कर्मियों की मृत्यु हो चुकी है।

इसलिय संविदा कर्मियों ने नाको भारत सरकार द्वारा वेतन पुनरीक्षण में भेदभाव की नीति व राज्य स्तर पर संविदा कर्मियों के साथ हो रहे शोषण के विरुद्ध सामाजिक दूरी के साथ-साथ धरना प्रदर्शन किया गया।

उत्तराखंड में तो विगत 2 वर्षों 2014-15 और 2014-16 का इन्क्रीमेंट भी बकाया है। इस अवसर पर उत्तराखंड राज्य एड्स नियंत्रण से संविदा कर्मी महावीर असवाल, अमित गोयल, मनीष थपलियाल, बालकराम न्यूली आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!