उत्तराखंडदेहरादूनधर्म कर्मस्वास्थ्य और शिक्षा

बाल विकास विभाग की ‘कोशिश’ से गर्भवती और धात्री महिलाओं को मिलेगा पूरा पोषण

कोरोना योद्धाओं की तरह काम कर रहा है बाल विकास विभाग

डोईवाला। बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर और आंगनबाड़ी कार्यकर्तीयों ने अपने क्षेत्रों में गर्भवती, धात्री आदि महिलाओं को हर महीने दिए जाने वाले टीएचआर राशन के साथ इस बार पीनट बटर, मॉस्क और मिल्क पाउडर भी बांटा।

लॉक डाउन की वजह से मजदूरी करने वाले लोगों के सामने रोजी रोटी का बड़ा संकट पैदा हो गया है। मंगलवार को बाल विकास विभाग की सुपरवाईजर रेनू लाम्बा ने गर्भवती मजदूर महिलाओं को पौष्टिक आहार वितरित किया। सोमवार से क्षेत्र की आंगनवाड़ी केंद्रों पर स्वयं के खर्चे से पंजरी बनाई जाएगी। जिसमें सभी पारंपरिक चीजों के साथ पौस्टिक चीजों का प्रयोग किया जाएगा।

इस मुहिम को ‘कोशिश’ नाम दिया गया है। कोरोना संकट में स्वास्थ विभाग, पुलिस और कई दूसरे विभागों के साथ ही बाल विकास विभाग भी मुश्तैदी से काम कर रहा है। विभाग की सभी सुपरवाइजर और आंगनबाड़ी कार्यकर्ती अपने क्षेत्रों में प्रत्येक दिन ड्यूटी देकर हर घर की स्वास्थ रिपोर्ट और गर्भवती व धात्री महिलाओं को उनके घर जाकर राशन व पौष्टिक आहार बांट रही हैं। 

 

 

ये भी पढ़ें:  हेमकुंड साहिब के कपाट 25 मई को खुलेंगे, प्रतिदिन जा सकेंगे 3500 श्रद्धालु

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!