अपराधउत्तराखंडदेशदेहरादूनराजनीति

भाजपाईयों ने की पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

Listen to this article

चुनाव जीतते ही गुंडई पर उतरी टीएमसी: भाजपा

देहरादून। पश्चिम बंगाल में भाजपाईयों पर हुए जानलेवा हमले को लेकर पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है।

भाजपाईयों का कहना है कि पश्चिम बंगाल मे टीएमसी पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ हिंसक घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। जिसमें उनकी पार्टी के कई कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं। जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह पुंडीर के नेतृत्व में  सभी 17 मंडलों में टीएमसी पार्टी के विरोध में धरना-प्रदर्शन किया गया। और कोविड गाइडलाइन का पालन करे हुए राष्ट्रपति को ज्ञापन भी दिया गया। जिलाध्यक्ष ने कहा कि चुनाव में हार और जीत लगी रहती थी।

लेकिन सत्ता के नशे में चूर होकर भाजपा के निर्दोष कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमले करना लोकतंत्र विरोधी है। जब चुनाव जीतने के बाद ये हाल है तो आगे टीएमसी क्या करेगी। ये समझा जा सकता है। इसलिए पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना जरूरी है।

मंडल अध्यक्ष विनय कंडवाल ने कहा कि पश्चिम बंगाल में टीएमसी द्वारा भाजपाईयों के साथ हत्या, बलात्कार और लूटपाट जैसे जघन्य अपराधों को अंजाम दिया जा रहा है।

जिससे भाजपा बर्दाश्त नहीं करेगी। इसलिए वहां राष्ट्रपति शासन लगाना जरूरी हो गया है। ज्ञापन देने वालों में अरुण मित्तल, सुरेश कंडवाल, विक्रम सिंह नेगी, चंद्रकला ध्यानी, सुंदर लोधी, प्रकाश शर्मा, मनमोहन नौटियाल आदि शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!